close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: फरक्का के फाटक खुलने के बाद लोगों ने ली राहत की सांस, स्थिर बना हुआ है जलस्तर

राजधानी पटना में भी गंगा पुरे उफान पर है और खतरे के निशान को पार कर चुकी है. वहीं, पटना के निचले हिस्से में रहने वालों के घर में पानी घुस चुका है अधिकारियों का मानना है कि गंगा के जल स्तर आज स्थिर बना हुआ है.

 बिहार: फरक्का के फाटक खुलने के बाद लोगों ने ली राहत की सांस, स्थिर बना हुआ है जलस्तर
फरक्का के 109 फाटक खुलने के बाद जल्द ही जलस्तर में कमी आएगी. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में गंगा उफान पर है. कई इलाकों में गंगा का पानी घुस चुका है. राजधानी पटना में भी गंगा पुरे उफान पर है और खतरे के निशान को पार कर चुकी है. वहीं, पटना के निचले हिस्से में रहने वालों के घर में पानी घुस चुका है अधिकारियों का मानना है कि गंगा के जल स्तर आज स्थिर बना हुआ है. फरक्का के 109 फाटक खुलने के बाद जल्द ही जलस्तर में कमी आएगी.

गंगा खतरे के निशान से 1 मीटर 19 सेंटीमीटर ऊपर है और यह कल 3:00 बजे से पानी स्थिर है. बिहार में गंगा के प्रवेश स्थल बक्सर में शनिवार को 10.44 लाख क्यूसेक पानी का बहाव हो रहा था. रविवार को यह 11.26 लाख पहुंच गया. यह वृद्धि इस सीजन में सर्वाधिक थी औसतन 15 से 30 हजार क्यूसेक पानी की मात्रा रोजाना बढ़ रही थी. 

रविवार को इसमें 82 हजार क्यूसेक की वृद्धि हो गई. सोमवार से मंगलवार की दोपहर तक गंगा स्थिर 1.19 मीटर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. गांघी घाट का जलस्तर 48.60 मीटर से बढ़ कर 49.79 के करीब पहुंच गया है.
 
इलाहाबाद में पानी में गिरावट आई है और बक्सर में भी पानी की गिरावट दर्ज हुई है. पटना से भी गिरावट दर्ज की जाएगी आज रात या कल से गिरावट दर्ज की जाएगी. स्थिति अब कंट्रोल में है.   

वहीं, गंगा नदी के इस बढ़ते जलस्तर को देखकर लोगों का कहना है की जलस्तर काफी बढ़ गया है पहले पानी का लेवल काफी कम था और मॉर्निंग वॉक गंगा किनारे लोग करते थे अभी सभी चीजें डूबी हैं. गंगा अपनी जलस्तर को नीचे ले जाएंगी

गौरतलब हो की 2016 में गंगा का जलस्तर 50.52 मीटर तक पहुंच गया था लेकिन इस बार इससे कम है और फरक्का बराज के 109 फाटक खुल जाने से लोग रहत की सांस ले रहे हैं. अगले 24 घंटे में पानी कम होगा.