close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकुड़: जलजमाव के कारण भड़के ग्रामीण, लोगों ने शुरू किया आंदोलन

सड़कों पर जलजमाव के कारण लोगों का चलना मुश्किल हो गया है. बासमती गांव के समाज सेवी नरेश कांत साह ने सड़क के किनारे मचान बनाकर भूख हड़ताल शुरू कर दी है.

पाकुड़: जलजमाव के कारण भड़के ग्रामीण, लोगों ने शुरू किया आंदोलन

पाकुड़: झारखंड के पाकुड़ जिला महेशपुर प्रखंड़ के बलियाडंगा और अमड़ापाड़ा के बीच बासमती गांव के दुर्गा मंदिर के सामने और मुख्य सड़क पर जलजमाव की समस्या को लेकर आंदोलन शुरू हो गया है. सड़कों पर जलजमाव के कारण लोगों का चलना मुश्किल हो गया है. बासमती गांव के समाज सेवी नरेश कांत साह ने सड़क के किनारे मचान बनाकर भूख हड़ताल शुरू कर दी है.

जलजमाव की समस्या को लेकर नरेश कांत साह ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू की है. नरेश कांत का कहना है कि अगर प्रशासन की ओर से उक्त समस्या का समाधान नहीं किया तो भूख हड़ताल जारी रहेगी.

 

उन्होंने बताया कि भूख हड़ताल करने की एक लिखित प्रतिलिपि बीडीओ महेशपुर और थाना अमड़ापाड़ा को देकर समस्या के समाधान करने की मांग की है. उनका कहना है कि इस गांव के लोग कई साल से मुख्य सड़क को लेकर परेशान हैं. 

जलजमाव और जर्जर सड़क को लेकर प्रखंड से लेकर जिला तक के अधिकारियों को लिखित शिकायत भी की गई थी, मुख्यमंत्री जन संवाद में भी इसकी शिकायत की गई थी, पर समस्या की सुध लेने के लिए कोई संवेदना नहीं दिख रहा है, और न ही आज तक किसी भी अधिकारी की तरफ से कोई भी पहल नहीं की गई. 

इस मार्ग से करीब दो हजार लोगों की रोजाना आवाजाही होती है. इसके अलावा स्कूली बच्चे और मरीज भी इसी रास्ते का इस्तेमाल करते हैं. जलजमाव से लोगों को आने जाने में भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है.
Palak Sharma, News Desk