close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंडः बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की बढ़ सकती है मुश्किलें, हाइकोर्ट में दायर की गई याचिका

झारखंड बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में दायर याचिका की वजह से प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं.

झारखंडः बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की बढ़ सकती है मुश्किलें, हाइकोर्ट में दायर की गई याचिका
लक्ष्मण गिलुवा के खिलाफ याचिका दायर की गई है.

रांचीः झारखंड बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ झारखंड हाईकोर्ट में दायर याचिका की वजह से प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दरअसल झारखंड बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष पर नक्सलियों से सांठगांठ का आरोप लगाते हुए प्रार्थी ने हाइकोर्ट में याचिका दायर की है. 

कोर्ट में दायर याचिका में मामले पर करवाई करने और एनआईए जांच की मांग की गई है. याचिकाकर्ता की तरफ से दायर याचिका को कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है, अब इस मामले पर कोर्ट का क्या रुख होता है कि आने वाले दिनों में स्पष्ट होगा.

वायरल तस्वीर को बनाया गया आधार
प्रदेश आदेश लक्ष्मण गिलुआ और रमाकांत पांडे की एक तस्वीर वायरल हुई है, इसी आधार पर याचिका दायर की गई है. तस्वीर में रमाकांत पांडे लक्ष्मण गिलुवा के आवास में एक मीटिंग में हिस्सा ले रहा है और लक्ष्मण गिलुवा से उसकी बातचीत चल रही है. इसी तस्वीर को आधार बनाते हुए याचिकाकर्ता ने लक्ष्मण गिलुवा पर नक्सलियों से सांठगांठ का आरोप लगाया है.

रमाकांत पांडे पर लेवी वसूसलने का आरोप
बता दें कि रमाकांत पांडे नक्सलियों के लिए लेवी वसूलने का आरोप है और रमाकांत पांडे का चाईबासा सैक का मेम्बर नक्सली संदीप का करीबी बताया जाता है. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ के खिलाफ दायर याचिका करने वाले दानियल दानिश बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के जमशेदपुर अध्यक्ष रह चुके हैं और वर्तमान में राज्य कार्य समिति के सदस्य हैं.

दायर याचिका पर विपक्ष ने घेरा तो लक्ष्मण ने दी सफाई
लक्ष्मण गिलुवा ने आरोप को निराधार बताते हुए कहा कि वह किसी भी जांच के लिए तैयार हैं और अगर जांच में उनका नक्सलियों से संबंध पाया गया तो वह राजनीति छोड़ने से भी परहेज नहीं करेंगे. वहीं, हाइकोर्ट में प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ दायर याचिका पर टिप्पणी करते हुए कांग्रेस ने बीजेपी पर ही आरोप लगाते हुए कहा कि यह बीजेपी की परिपाटी ही रही है. साथ ही उन्होंने कहा कि एक तरफ बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता को नक्सलियों से डर लगता है. वहीं दूसरी तरफ उनके प्रदेश अध्यक्ष ही नक्सलियों से सांठगांठ रखते हैं.