झारखंड में बोले PM मोदी- कांग्रेस ने अयोध्या विवाद दशकों तक लटकाया, इससे देश को हुआ नुकसान

 डाल्टनगंज में पीएम मोदी ने हुंकार भरी. पीएम ने यहां से बीजेपी उम्मीदवारों के लिए वोट मांगा और रघुवर सरकार की जमकर तारीफ भी की. पीएम मोदी ने तीन दिन पहले लातेहार में नक्सली हमले में शहीद पुलिसकर्मियों को भी याद किया. 

झारखंड में बोले PM मोदी- कांग्रेस ने अयोध्या विवाद दशकों तक लटकाया, इससे देश को हुआ नुकसान
पीएम ने यहां से बीजेपी उम्मीदवारों के लिए वोट मांगा और रघुवर सरकार की जमकर तारीफ भी की.

डाल्टनगंज: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi)आज विधानसभा चुनाव में प्रचार करने झारखंड के डाल्टनगंज पहुंचे. डाल्टनगंज में पीएम मोदी ने हुंकार भरी. पीएम ने यहां से बीजेपी उम्मीदवारों के लिए वोट मांगा और रघुवर सरकार की जमकर तारीफ भी की. 

लातेहार के शहीदों को किया याद
पीएम मोदी ने तीन दिन पहले लातेहार में नक्सली हमले में शहीद पुलिसकर्मियों को भी याद किया. उनके परिवारवालों के साथ पीएम ने अपनी संवेदना व्यक्त की.

बीजेपी का मजबूत किला है पलामू
उन्होंने साथ ही कहा कि पलामू बीजेपी के लिए हमेशा से एक मजबूत किला रहा है. अगर पूरे भारत में शान से खिला है तो इसकी बहुत बड़ी भूमिका यहां की जनता जनार्दन, यहां के बीजेपी के कार्यकर्ता और आप सबके आशीर्वाद से हुआ है. उन्होंने कहा, 'मैं आज की नहीं 80 के दशक की भी बात कर रहा हूं. जब बीजेपी का जनाधार इतना व्यापक नहीं था, तब कांग्रेस हमारा मजाक उड़ाती थी तब भी इस क्षेत्र में बीजेपी मजबूत थी.'

बीजेपी ने दी स्थिर सरकार
साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी ने झारखंड को स्थिर सरकार दी है. भाजपा ने झारखंड में भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए दिन रात काम किया है यहां का जनजातीय समुदाय, दलित, वंचित, कारोबारी हर वर्ग कमल के निशान के साथ खड़ा रहा है.  साथ ही पीएम मोदी ने कहा, 'बीजेपी की अगवाई में एक स्थिर और मजबूत सरकार का दोबारा बनना यहां बहुत जरूरी है. क्योंकि झारखंड युवावस्था में है, अभी राज्य को जो दिशा मिलेगी, उसका झारखंड के भविष्य पर बहुत प्रभाव पड़ेगा.'

नक्सलवाद पर कहा
नक्सलवाद के मुद्दे पर विरोधियों पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि झारखंड में नक्सलवाद की ये समस्या इसलिए भी बेकाबू हुई क्योंकि यहां राजनीतिक अस्थिरता थी. यहां सरकारें पिछले दरवाज़े से बनती और बिगाड़ी जाती थीं. क्योंकि उनके मूल में स्वार्थ और करप्शन होता था. इन स्वार्थी लोगों में झारखंड की सेवा करने के लिए कोई भावना नहीं है. इन स्वार्थी लोगों के गठबंधन का एकमात्र एजेंडा सत्ताभोग और झारखंड के संसाधनों का दुरुपयोग है.

विरोधियों पर साधा निशाना
पीएम मोदी ने विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि झारखंड में अस्थिरता का लाभ ऐसे लोगों ने उठाया जिनकी दुकान हिंसा पर चलती थी. यही उद्योग यहां खूब फला-फूला. इस स्थिति को काफी हद तक बदलने में केंद्र की और झारखंड की बीजेपी सरकार ने सफलता पाई है. बीजेपी सरकार के ईमानदार प्रयासों से ही आज झारखंड के गांव-गांव में सड़कें और बिजली पहुंच रही है. बदलते हुए हालात में अब यहां रोजगार के नए साधन तैयार हो रहे हैं. विरोधियों पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा, 'यहां से जो बॉक्साइट निकल रहा है, उसका बड़ा हिस्सा यहीं के विकास में लगे, इसका भी प्रावधान पहली बार बीजेपी की सरकार ने ही किया है. विरोधी हताशा में कुछ भी कहें, लेकिन आपके जल, जमीन और जंगल की सुरक्षा और आपके हितों पर बीजेपी कोई आंच नहीं आने देगी.'
 
दूसरी राज्यों के सरकारों में नहीं मिल रहा किसानों को लाभ
गैर बीजेपी शासित राज्यों की सरकारों पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, राजस्थान जैसे गैर बीजेपी शासित राज्यों में किसानों को लाभ पहुंचाने नहीं दिया जा रहा है क्योंकि वहां की सरकारों को लगता है कि अगर किसानों को लाभ मिलेगा तो मोदी का जय जयकार होगा. 

रेवड़ियां बांटना जानती हैं कांग्रेस
पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी ने जो भी वादे किए थे, वो एक के बाद एक ज़मीन पर उतारे हैं. दूसरी तरफ कांग्रेस और उसके साथी हैं, जो सिर्फ रेवड़ियां बांटना जानते हैं. उनके पास समस्याएं हैं, हमारे पास समाधान हैं

कांग्रेस नहीं चाहती थी समाधान
आर्टिकल 370 पर पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस और उसके साथी दलों ने आर्टिकल 370 का मामला लटकाकर छोड़ा हुआ था. जम्मू कश्मीर की सुरक्षा के लिए यहां के अनेक वीर जवानों को बलिदान देना पड़ा. इन सब के जिम्मेदार हैं कांग्रेस और उसके सहयोगी दल हैं. बीजेपी ने अपना वादा पूरा करके दिखाया है. 

अयोध्या का विवाद दशकों तक लटकाया
पीएम मोदी ने अपने संबोधन में अयोध्या विवाद की भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि भगवान राम की जन्मभूमि, अयोध्या का विवाद भी इन लोगों ने दशकों से लटकाया हुआ था.
कांग्रेस अगर चाहती तो उसका समाधान निकाल सकती थी. कांग्रेस ने ऐसा किया नहीं, कांग्रेस ने अपने वोटबैंक की परवाह की. कांग्रेस की इस सोच से देश-समाज का नुकसान हुआ.