जाने, प्रधानमंत्री ने बिहार को 33 हजार करोड़ रुपये में क्या-क्या दी सौगात

प्रधानमंत्री ने पटना मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास सहित बिहार को 33 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की परियोजनाओं की सौगात दी.

जाने, प्रधानमंत्री ने बिहार को 33 हजार करोड़ रुपये में क्या-क्या दी सौगात
पीएम नरेंद्र मोदी बेगूसराय से कई परियोजनाओं की शुरूआत की है.

बेगूसरायः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को यहां पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए बिहार के दो सपूतों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि इस घटना के बाद जो आग जनता के दिल में है, वही आग उनके दिल में भी है. इस मौके पर प्रधानमंत्री ने पटना मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास सहित बिहार को 33 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की परियोजनाओं की सौगात दी. इस मौके पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इन परियोजनाओं से बिहार सहित पूर्वोत्तर भारत विकास की ओर अग्रसर होगा. उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं से युवाओं को जहां रोजगार के साधन उपलब्ध होंगे, वहीं किसानों को ताकत मिलेगी, तथा पटना की पहचान बढ़ेगी. 

उन्होंने कहा, "इस क्षेत्र को औद्योगिक क्षेत्र बनाने के लिए बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और 'बिहार केसरी' श्रीकृष्ण सिंह ने काफी मेहनत की थी. आज इन योजनाओं का प्रारंभ होना हमारी उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि है."

उन्होंने कहा, "बरौनी रिफाइनरी से कच्चे तेल शोधन की क्षमता बढ़ेगी. इससे नेपाल तक को फायदा होगा. पटना में गैस पाइपलाइन का उद्घाटन हो गया है. गैस परियोजनाओं से युवाओं को रोजगार मिलेगा."

प्रधानमंत्री मोदी ने यहां से रिमोट के जरिए पटना शहर गैस वितरण परियोजना का उद्घाटन किया. प्रधानमंत्री ने बरौनी रिफाइनरी में बरौनी रिफाइनरी क्षमता विस्तार परियोजना और एटीएफ हाइड्रोट्रीटिंग यूनिट (आईएनडीजेईटी) की आधारशिला रखी. मोदी ने अमोनिया-यूरिया उर्वरक परिसर का भी शिलान्यास किया.

मोदी ने 13,365 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले पटना मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास किया. इसके अलावा उन्होंने करीब एक दर्जन अन्य परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया. उन्होंने पटना के शहरी क्षेत्र में 3,200 वर्ग किलोमीटर में 9.75 लाख घरों में पीएनजी तथा वाहनों के लिए सीएनजी आपूर्ति योजना का उद्घाटन किया. इसके अलावा नमामि गंगा योजना के तहत बाढ़, सुल्तानगंज, कारमालीचक तथा नवगछिया में जलमल शोधन संयंत्र योजना का भी शिलान्यास किया.

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने विभिन्न स्थानों के लिए 1,427.14 करोड़ रुपये की लागत से 22 अटल नवीकरण और शहरी परिवर्तन मिशन (अमृत) परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया. 

प्रधानमंत्री ने कई रेल खंडों पर रेलवे लाइन के विद्युतीकरण का उद्घाटन किया और रांची-पटना वातानुकूलित एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई. इसके अलावा उन्होंने छपरा और पूर्णिया में मेडिकल कॉलेजों की भी आधारशिला रखी. 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "हमारी सरकार ने सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण दिया है. यह आरक्षण किसी अन्य के आरक्षण को प्रभावित किए बिना दिया गया है."

उन्होंने कहा, "बिहार के छपरा और पूर्णिया में नए मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं, कई का उन्नयन किया जा रहा है. सरकार गरीबों के इलाज के लिए भी मुकम्मल व्यवस्था करने में लगी है. ऐसे गरीब अपने बच्चों की परवरिश के लिए अपना रोग छिपाए रहते हैं."

इस मौके पर बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान सहित कई केंद्रीय मंत्री और नेता उपस्थित रहे. 

इससे पहले मोदी पटना हवाईअड्डा पहुंचे, जहां उनका स्वागत किया गया. उसके बाद वह सीधे बेगूसराय के लिए रवाना हो गए.