पीएम मोदी ने मैथिली में किया ट्वीट, बोले- अन्न योजना के आगे बढ़ावला से करोड़ों लोगन के फैदा होई

इस साल बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और पीएम मोदी ने आज अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में छठ पूजा का भी जिक्र किया है. ऐसे में पीएम मोदी के मैथिली भाषा में किए गए इस ट्वीट पर बिहार के विपक्षी दलों की क्या प्रतिक्रिया रहती है ये भी देखने वाली बात होगी.  

पीएम मोदी ने मैथिली में किया ट्वीट, बोले- अन्न योजना के आगे बढ़ावला से करोड़ों लोगन के फैदा होई
पीएम मोदी ने कोरोना काल के दौरान आज छठी बार देश को संबोधित किया.(फाइल फोटो)

पटना: पीएम नरेंद्र मोदी ने कोरोना काल के दौरान आज छठी बार देश को संबोधित किया. पीएम नरेंद्र मोदी ने संबोधन के शुरुआत में कहा क‍ि अनलॉक होने के बाद लापरवाही देखने को मिल रही है. 

साथ ही, पीएम ने अपने संबोधन में बड़ी घोषणा की और कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्‍न योजना का विस्तार नवंबर के आखिर तक किया जाएगा. 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने वाली योजना का लाभ मिलेगा. इन 5 महीनों के लिए 5 किलो गेहूं और प्रत्येक परिवार को एक किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा. 

वहीं, पीएम मोदी ने अपने ट्वटिर हैंडल से मैथिली भाषा में भी ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'ई गरीबजन के सम्मान सुनिश्चित करे वाला बा. प्रधानमन्त्री गरीब कल्याण अन्न योजना के आगे बढ़ावला से देश भर के करोडों लोगन के फैदा होई.' इसका अर्थ है कि यह गरीब लोगों के सम्मान को सुनिश्चित करने वाली योजना है. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना को आगे बढ़ाने से देश भर को करोड़ों लोगों को फायदा मिलेगा. 

आपको बता दें कि इस साल बिहार में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और पीएम मोदी ने आज अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में छठ पूजा का भी जिक्र किया है. ऐसे में पीएम मोदी के मैथिली भाषा में किए गए इस ट्वीट पर बिहार के विपक्षी दलों की क्या प्रतिक्रिया रहती है ये देखना भी दिलचस्प होगा. 

वहीं, बिहार में आरजेडी ने पीएम मोदी के संबोधन पर बड़ा बयान दिया है. आरजेडी नेता मनोज झा ने कहा है कि देश में आज की तारीख में जो हालात हैं, और सरहद से लेकर लोगों की आम जिंदगी में जो हो रहा है. बड़ी उम्मीद से हमलोगों ने भी पीएम का संबोधन सुना. कई चीजें ठीक भी थी. मैं समझता हूं कि उन्होंने जो कहा वो प्रेस रिलीज से भी कह देते तो बड़ी बात नहीं थी. यही बेहतर भी होता.

उन्होंने कहा कि देश के कई दल लगातार कह रहे हैं कि देश के नॉन इनकम टैक्स पे फैमिली को साढ़ सात हजार से आठ हजार हर महीने दें, लेकिन इसके बारे में पीएम ने लगातार चुप्पी हमें समझ नहीं आ रही है.