झारखंड चुनाव: PM मोदी बोले- कर्नाटक उपचुनाव रिजल्ट से मिले तीन बड़े संदेश, जनता ने सिखाया सबक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड में मोर्चा संभाले हुए हैं. आज यानी सोमवार को बरही के बाद बोकारो में एक जनसभा को संबोधित करते हुए न सिर्फ रघुवर सरकार के पांच वर्षों की उपलब्धियां गिनाईं, बल्कि कांग्रेस और जेमएम को भी घेरा.  

झारखंड चुनाव: PM मोदी बोले- कर्नाटक उपचुनाव रिजल्ट से मिले तीन बड़े संदेश, जनता ने सिखाया सबक
पीएम मोदी ने कहा कि कर्नाटक के उपचुनाव से तीन बड़े संदेश निकले हैं.

बोकारो: झारखंड में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के तमाम बड़े नेता चुनावी दौरा कर रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड में मोर्चा संभाले हुए हैं. आज यानी सोमवार को बरही के बाद बोकारो में एक जनसभा को संबोधित करते हुए न सिर्फ रघुवर सरकार के पांच वर्षों की उपलब्धियां गिनाईं, बल्कि कांग्रेस और जेमएम को भी घेरा.

इस दौरान उन्होंने विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये संयोग ही है कि आज जब मैं दुबारा बीजेपी की सरकार बनाने की अनुरोध करने आया हूं तो सामने एक गठबंधन झारखंड को लूटने की मशक्कत कर रहा है और देश के अन्य राज्य ने बड़ा फैसला दिया है. उन्होंने कहा कि कर्नाटक में उपचुनाव के नतीजे आए हैं. आज कर्नाटक में जो नतीजे आए हैं , उससे कर्नाटक की सरकार का भविष्य तय होने वाला था. 

उन्होंने कहा कि कर्नाटक के चुनाव से तीन बड़े संदेश निकले हैं. पहला ये कि देश की जनता स्थिर और स्थायी सरकार चाहती है. दूसरा कांग्रेस और उसके साथी जो पिछले दरवाजे से सत्ता पाने के लिए जनादेश को धोखा देते हैं, जनता का अपमान करते हैं, जनता चुप रहती है लेकिन पहला मौका मिलते ही न सिर्फ उन्हें सबक सिखाती है बल्कि उनका सुपड़ा साफ करती है. 

तीसरा संदेश ये है कि देश में स्थिर सरकार और विकास के लिए जनता का भरोसा सिर्फ और सिर्फ बीजेपी पर ही है. ऐसे तीन मजबूत संदेश आज कर्नाटक के महत्वपूर्ण उपचुनाव से निकले हैं. 

साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके साथियों के गठबंधन से झारखंड को भी सावधान रहने की जरूरत है. ये सुधरने वाले नहीं है. कांग्रेस और उसके साथी झारखंड में छल-कपट करना चाहते हैं. वो झारखंड को फिर अस्थिरता की ओर धकेलना चाहते हैं. 

पीएम मोदी ने कहा है कि दशकों से ये क्षेत्र प्राकृतिक संपदा के लिए मशहूर है. यहां के प्राकृतिक संसाधनों ने देश के विकास में बड़ी भूमिका निभाई है. लेकिन यहां से जो संपदा निकलती थी, उसका उपयोग यहां के भी विकास पर हो, इसकी सुध कांग्रेस और जेएमएम की सरकार ने कभी नहीं ली. 

साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार ने पहली बार डिस्ट्रिक्ट मिनरल फंड (डीएमएफ) का गठन किया. आज झारखंड को इसके तहत करीब 5 हज़ार करोड़ रुपए मिले हैं.
इस राशि से बीजेपी की सरकार यहां पर पानी की पाइपलाइन बिछा रही है. स्कूल और अस्पताल बना रही है, दूसरी सुविधाओं को निर्माण कर रही. 

जेएमएम पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि जेएमएम के सहयोग से चलने वाली सरकार जब दिल्ली और झारखंड में थी तो उनकी प्राथमिकता थी, अपने लिए आलीशान घर बनाना. लेकिन इन्होंने गांव वालों को झोपड़ी में रखा और शहरों में झुग्गियों को विस्तार दिया. अटल जी की सरकार ये योजना शुरू हुई थी.