लोकसभा चुनाव : पीएम मोदी ने की नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव से अपील, कही ये खास बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के राजनीतिक दलों के अलावा खेल और मनोरंजन जगत सहित विभिन्न क्षेत्रों के लोगों से अधिक से अधिक लोगों को मतदान करने के लिए जागरूक करने की अपील की है.

लोकसभा चुनाव : पीएम मोदी ने की नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव से अपील, कही ये खास बातें
पीएम मोदी ने नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव से अपील की है. (फाइल फोटो)

पटना : लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो चुका है. पहले चरण के चुनाव में एक महीने से भी कम समय शेष है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के राजनीतिक दलों के अलावा खेल और मनोरंजन जगत सहित विभिन्न क्षेत्रों के लोगों से अधिक से अधिक लोगों को मतदान करने के लिए जागरूक करने की अपील की है. पीएम मोदी ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए.

पीएम मोदी ने इस दौरान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, रामविलास पासवान, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, चिराग पासवान और मनोज वाजपेयी से भी लोगों को चुनाव में भागीदारी लेने के लिए अपील करने के लिए कहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, 'नीतीश कुमार और रामविलास पासवान जी आपसे आग्रह है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में देशभर में मतदान प्रतिशत बढ़ाने की दिशा में आप सहयोग करें. हमें ऐसा माहौल बनाना होगा, जिससे कि अधिक से अधिक मतदान संभव हो सके.'

एक अन्य ट्वीट में पीएम मोदी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, ममता बनर्जी और तेजस्वी यादव सहित विपक्ष के कई नेताओं से लोकसभा चुनाव में वोट प्रतिशत बढ़ाने के लिए जागरुकता फैलाने का आग्रह किया है.

इससे पहले पीएम मोदी ने एक ब्लॉग भी लिखा है, जिसमें उन्होंने लिखा, 'लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के मतदान में अब महीने भर से भी कम समय है. मतदान हमारे महत्वपूर्ण कर्तव्यों में से एक है. हमारा वोट देश की विकास यात्रा में हमारी भागीदारी का संकल्प है. मताधिकार का प्रयोग कर हम देश के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने में अपना योगदान देते हैं. आइए, एक ऐसा वातावरण बनाते हैं, जहां वोटर कार्ड पाना और वोट देना गर्व की बात हो, सब लोग इसको लेकर उत्साहित हों. विशेषकर पहली बार वोट डालने वालों के लिए तो यह लोकतंत्र का उत्सव ही बन जाए.'

पीएम मोदी आगे लिखते हैं, 'माहौल ऐसा बने कि वोट नहीं कर पाने पर व्यक्ति को पश्चाताप हो. फिर कभी देश में कुछ भी गलत दिखे तो व्यक्ति अपने आप को उसके लिए जिम्मेदार माने और सोचे कि यदि मैं उस दिन वोट करने गया होता तो ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति पैदा नहीं होती और देश मुसीबत नहीं झेलता. हमें अपने जीवन में ऐसा पछतावा न करना पड़े, इसके लिए वोट अवश्य दें.'