close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

CM बनने से पहले पता भी नहीं चलता था कब आता है मेरा जन्मदिन : पीएम मोदी

पीएम ने कार्यकर्ताओं को 'मेरा बूथ, सबसे मजबूत' का मंत्र दिया. चर्चा के दौरान नवादा की वर्षा रानी ने पीएम पूछा कि इस वर्ष आप अपना जन्मदिन कैसे मनाएंगे, या हमलोग कैसे मनाएं? 

CM बनने से पहले पता भी नहीं चलता था कब आता है मेरा जन्मदिन : पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नमो ऐप से की कार्यकर्ताओं से बात.

नई दिल्ली/नवादा : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (गुरुवार को) नमो ऐप के जरिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद कर रहे थे. इस दौरान उन्होंने बिहार के नवादा और झारखंड के हजारीबाग लोकसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से भी बात की. पीएम ने कार्यकर्ताओं को 'मेरा बूथ, सबसे मजबूत' का मंत्र दिया. चर्चा के दौरान नवादा की वर्षा रानी ने पीएम पूछा कि इस वर्ष आप अपना जन्मदिन कैसे मनाएंगे, या हमलोग कैसे मनाएं? 

बीजेपी कार्यकर्ता के प्रश्न पर पीएम मोदी ने कहा कि मैं जब तक गुजरात का मुख्यमंत्री नहीं बना था, तब तक मुझे पता भी नहीं चलता था कि मेरा जन्मदिन कब आता है. पीएम ने कहा, 'ना ही मैं ऐसे परिवार में पैदा हुआ, जहां जन्मदिन मनाने की परंपरा रही हो. इसलिए मैं खुद को इससे दूर रखने की कोशिश करता हूं.' ज्ञात हो कि 17 सितंबर को पीएम मोदी का जन्मदिन आता है.

'17 सिंतबर को जन्म लेने वाले बच्चों के घर जाएं'
पीएम मोदी ने बीजेपी के कार्यकर्ताओं से कहा कि 17 सितंबर के दिन आपके आसपास जन्म लेने वाले बच्चों के घर जाएं. उन्हें पुष्प भेंट करें. साथ ही परिवार के लोगों को बताएं कि उनके देश के प्रधानमंत्री का जन्म भी इसी दिन हुआ था. उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि इस दिन जन्म लेने वाले बच्चों के माता-पिता से कहें कि उन्हें भी अपने बच्चों को बड़ा बनाना है.

PM नरेंद्र मोदी ने बताया, उन्हें कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर क्यों आती है दया?

इसके अलावा पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि 17 सितंबर को जिनका जन्मदिन आता है सभी लोगों को ढूंढकर उनसे मिलें. सभी को इकट्ठा करें और उनका अभिनंदन करें. यही मेरा भी अभिनंदन होगा. पीएम ने कहा कि हमें वीआईपी कल्चर को खत्म करना है.

अटल जी को काव्यांजलि देने का पीएम ने किया आह्वान
कार्यकर्ताओं के साथ संवाद के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि 16 सितंबर को वाजपेयी जी के निधन का एक महीना पूरा हो रहा है. उनकी कविता हमारे देश को आगे ले जाने का काम कर सकती है. इसलिए हमें अटल जी को काव्यांजलि देनी चाहिए. इसके अलावा पीएम ने कहा कि 17 से 25 सिंतबर (पंडित दीन दयाल उपाध्याय जी के जन्मदिन) तक सभी कार्यकर्ताओं को कार्यांजलि देनी चाहिए. इसे सेवा सप्ताह के रूप में मनाएं. इस सप्ताह अपने आसपास हेल्थ चेकअप कैंप, लोगों को गैस कनेक्शन दिलाने जैसा काम करें. साथ ही 'आयुष्मान भारत' के बारे में भी लोगों को जानकारी दें.