मुंगेर : पुलिस के हत्थे चढ़े हथियार तस्कर, 80 पिस्टल बॉडी भी बरामद

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार हथियार तस्कर पिछले एक-डेढ़ साल से हथियार तस्करी से जुड़ा हुआ था. ये लोग कोलकाता से दो से ढाई हजार में पिस्टल बॉडी की खरीद करता है. जिसे सब्जी के आड़ में रेल मार्ग से जमालपुर, किऊल एवं लखीसराय लेकर आता है.

मुंगेर : पुलिस के हत्थे चढ़े हथियार तस्कर, 80 पिस्टल बॉडी भी बरामद
मुंगेर पुलिस के हत्थे चढ़े हथियार तस्कर.

मुंगेर : पश्चिम बंगाल के कोलकाता से पिस्टल बॉडी लेकर मुंगेर आ रहे चार हथियार तस्कर को गिरफ्तार कर लिया गया है. उसेके पास से पॉकेट में बंद 80 पिस्टल बॉडी जब्त किया गया है. इस मामले में मुख्य सरगना कासिम बाजार थाना क्षेत्र के हजरतगंज वाड़ा निवासी मो. इरफान सहित चार हथियार तस्कर को गिरफ्तार किया, जो पिछले एक साल से इस कारोबार में संलिप्त है.
 
पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव मंगला ने बताया कि हथियार तस्करी और निर्माण से जुड़े कारीगर व तस्करों का नंबर साइवर सेल द्वारा सर्विंलास पर रखा गया है, जिसके माध्यम से पुलिस को गुप्त सूचना मिली कि रेल मार्ग से मुंगेर के कुछ हथियार तस्कर पिस्टल लेकर लखीसराय उतरे हैं. यात्री गाड़ी पर सवार होकर तस्कर मुंगेर लेकर आ रहा है. 

पुलिस इसी सूचना पर हेरूदियारा के समीप एक यात्री बस को तालाशी के लिए रोका. तालाशी के दौरान सब्जी के थैला से 80 पिस्टल बॉडी बरामद किया गया. एसपी ने बताया कि इस मामले में चार हथियार तस्करों को गिरफ्तार किया गया है. जिसमें कासिम बाजार थाना क्षेत्र के हजरतगंज वाड़ा निवासी मो. नसीम का बेटा मो. इरफान, मों भंजु का बेटा मो. इम्तियाज, जमालपुर थाना क्षेत्र के सदर बाजार निवासी मो. स्व. मेराज कुरैशी का बेटा मो. मुख्तार एवं नयारामनगर थाना क्षेत्र के पड़हम निवासी मो. असलम का पुत्र मो. नसीम शामिल है.

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार हथियार तस्कर पिछले एक-डेढ़ साल से हथियार तस्करी से जुड़ा हुआ था. ये लोग कोलकाता से दो से ढाई हजार में पिस्टल बॉडी की खरीद करता है. जिसे सब्जी के आड़ में रेल मार्ग से जमालपुर, किऊल एवं लखीसराय लेकर आता है. इसके बाद यात्री वाहनों से सब्जी विक्रेता बनकर पिस्टल बॉडी को लेकर मुंगेर आता है और उसे चार से पांच हजार में हथियार निर्माताओं के पास बेच देता था. पिस्टल बॉडी को दियारा क्षेत्र में फिनिसिंग टच देकर पुन: बाजार में बेच दिया जाता है. 

एसपी ने बाताया कि मो. इरफान इस गिरोह का सरगना है. इसमें कई लोग शामिल हैं. गिरफ्तार तस्करों ने जहां गिरोह के अन्य सदस्यों का नाम बताया है. वहीं, जिस हथियार निर्माताओं के पास पिस्टल बॉडी को बेचता था उसका भी नाम बताया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है.