बाढ़ में अपने घर से पकड़ा गया कोरोना संदिग्ध, जांच के लिए ले आया गया पटना

दूसरी तरफ संदिग्ध मरीज को ले जाने के लिए अनुमंडल अस्पताल प्रबंधन ने भी बड़े पैमाने पर इसकी तैयारी कर रखी थी. उसे पटना तक ले जाने के लिए मोकामा से विशेष एंबुलेंस बुलाए गए. 

बाढ़ में अपने घर से पकड़ा गया कोरोना संदिग्ध, जांच के लिए ले आया गया पटना
बिहार के बाढ़ से पकड़ा गया कोरोना संदिग्ध, जांच के लिए ले आया गया पटना. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बाढ़: बिहार की राजधानी पटना से सटे बाढ़ में कोरोना संदिग्ध का एक मामला मिलने के बाद लोगों में दहशत का माहौल सा बन गया. बाढ़ थाना की पुलिस पटना से आई रिपोर्ट के मुताबिक कई घंटे तक एक संदिग्ध मरीज को पकड़ने के लिए परेशान दिखी. आखिरकार संदिग्ध को पकड़कर पटना भेजा गया.

बाढ़ नगर क्षेत्र के बाजितपुर मुहल्ला निवासी मोहम्मद जलालुद्दीन उर्फ कक्कू हाल के दिनों में फुलवारीशरीफ एक शादी समारोह में शामिल हुआ था और उसी शादी समारोह में करोना के एक पॉजिटिव मरीज से संपर्क में आया था. इसके बाद से ही कारोना पॉजिटिव से पीड़ित मरीज के हिस्ट्री के आधार पर बार निवासी सलाहुद्दीन की खोज पुलिस ने करनी शुरू कर दी थी. 

कई घंटे के प्रयास के बाद आखिरकार अपने घर से ही सलाउद्दीन को पुलिस ने घेराबंदी करते हुए एंबुलेंस के अंदर किया और बड़े ही सावधानीपूर्वक विधि व्यवस्था के साथ उसे पटना भेज दिया. इस अभियान में बाढ़ थानाध्यक्ष संजीत कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी बाल अमरेंद्र कुमार सिन्हा सहित कई पुलिस तैनात दिखे.

वहीं दूसरी तरफ संदिग्ध मरीज को ले जाने के लिए अनुमंडल अस्पताल प्रबंधन ने भी बड़े पैमाने पर इसकी तैयारी कर रखी थी. उसे पटना तक ले जाने के लिए मोकामा से विशेष एंबुलेंस बुलाए गए. 

चिकित्सक को अब यह भय सता रहा है कि कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए सलाउद्दीन ने और कितनों को संक्रमित किया होगा. पुलिस प्रशासन इसकी भी तैयारी में जुट गई है. वही सलाउद्दीन के परिवार वाले भी कारोना के खतरे से भयभीत हैं.