close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: समस्तीपुर में पुलिसकर्मियों को छुट्टी के लिए खानी पड़ी 'छठी मैया' की कसम!

पुलिस सूत्रों का कहना है कि छठ पर्व के लिए छुट्टी नहीं मिलने के कारण पुलिसकर्मियों द्वारा तरह-तरह के बहाने बनाकर आवेदन किए जा रहे हैं.

बिहार: समस्तीपुर में पुलिसकर्मियों को छुट्टी के लिए खानी पड़ी 'छठी मैया' की कसम!
छठ महापर्व में छुट्टी को लेकर यह शपथ पत्र वायरल हो रहा है.

पटना: लोक आस्था के महापर्व छठ (Chhath Puja 2019) में पुलिसकर्मियों को छुट्टी पर जाने के लिए छठी मैया की कसम खाकर आवेदन करने का पत्र सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. पुलिस सूत्रों का दावा है कि समस्तीपुर पुलिस (Samastipur Police) द्वारा ऐसे ही आवेदन पत्र भरने के बाद पुलिसकर्मियों को छठ पर्व में छुट्टी दी जा रही है. इस बीच, समस्तीपुर पुलिस अधीक्षक ने इस मामले के प्रकाश में आने के बाद जांच के आदेश दिए हैं.

पुलिस सूत्रों का कहना है कि छठ पर्व के लिए छुट्टी नहीं मिलने के कारण पुलिसकर्मियों द्वारा तरह-तरह के बहाने बनाकर आवेदन किए जा रहे हैं. बिहार के एक पुलिसकर्मी का पत्र सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है. पत्र में पुलिसकर्मी ने छठी मैया की कसम खाते हुए छुट्टी के लिए आवेदन दिया है.

समस्तीपुर की एक पुलिस चौकी में पदस्थापित अवर निरीक्षक नारायण सिंह द्वारा विभाग को दिया गया एक शपथ पत्र सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

नारायण सिंह ने शपथ पत्र में लिखा है, "मैं पुलिस अवर निरीक्षक नारायण सिंह, छठी मैया को साक्षी मान कर शपथ लेता हूं कि मैं स्वयं छठ पिछले 40 साल से करता आ रहा हूं. हे छठी मैया, अगर मैं झूठ बोल कर छुट्टी ले रहा हूं, तो उसी समय मेरे बच्चों और मेरे समस्त परिवार पर घोर विपत्ति आ जाए."

इस संबंध में जब समस्तीपुर के पुलिस अधीक्षक विकास वर्मन से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि उन्हें भी इसकी सूचना मिली है. पुलिस अधीक्षक ने कहा, "जिला मुख्यालय द्वारा ऐसे शपथ पत्र के साथ आवेदन पत्र लेने का कोई निर्देश या आदेश नहीं दिया गया है. इस मामले पर पुलिस लाईन सार्जेट को जांच के आदेश दिए गए हैं. ऐसा आवेदन दिया जाना कहीं से उचित नहीं है. जांच के बाद ऐसा करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी."

सूत्रों का कहना है कि छुट्टी लेने की चाहत रखने वाले 85 पुलिसकर्मियों ने ऐसे शपथ पत्र भरकर आवेदन जमा किए हैं, जिनमें लिखा गया है, "हे छठी मैया अगर मैं झूठ बोल कर छुट्टी ले रहा हूं तो उसी समय मेरे बच्चे और मेरे समस्त परिवार पर घोर विपत्ति आ जाए."

इसके बाद शपथ पत्र में संबंधित पुलिसकर्मी के हस्ताक्षर के लिए जगह छोड़ी गई है.