कटिहार: चर्चित दंपत्ति आत्महत्या मामले में नया खुलासा, सुसाइड नोट में मिले अहम सुराग

मृत व्यवसायी मनीष झा के सीलबंद कमरे को दो दिनों बाद भागलपुर से पहुंची तीन सदस्यीय फोरेंसिक टीम ने खोला. इसके बाद घटनास्थल से सारे सबूत और नमूने को जब्त किया गया. मृतक व्यवसायी दंपत्ति ने अपने मासूम बच्चे की हत्या कर फंदे से झूलकर अपनी जान दे दी थी. 

कटिहार: चर्चित दंपत्ति आत्महत्या मामले में नया खुलासा, सुसाइड नोट में मिले अहम सुराग
कटिहार दंपत्ति सुसाइड मामले में नया खुलासा, पुलिस को सुसाइड नोट में मिले अहम सुराग.

कटिहार: बिहार के कटिहार में चर्चित दंपत्ति सुसाइड मामले पर मुफ्फसिल थाने में दर्ज हुई चार यातना और प्रताड़ित करने वाले चार सूदखोरों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है. मृतक दंपत्ति की लिखी पांच पन्नों वाली सुसाइड नोट से सूदखोर नरपिशाचों की दिल दहला देने वाली अंतहीन कष्ट का खुलासा हुआ है. पुलिस इंसानी गिद्धों को इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस से इकट्ठा करने में जुटी है.

दरअसल, जघन्य वारदात की सबूत मृतक दंपत्ति के परिजनों को सूदखोर गुंडों से मौत का खौफ है. परिजन इंसाफ के लिए कानून व्यवस्था से गुहार लगा रहे हैं. हालांकि, सुसाइड नोट से चिह्नित सूदखोर किशोर कुमार सिंह ने मामले से अपना पल्ला झाड़ा लिया है, लेकिन 25 फरवरी की वारदात से मृतक व्यवसायी मनीष झा के वृद्ध माता-पिता के आंसू रूक नहीं रहे हैं.

मृत व्यवसायी मनीष झा के सीलबंद कमरे को दो दिनों बाद भागलपुर से पहुंची तीन सदस्यीय फोरेंसिक टीम ने खोला. इसके बाद घटनास्थल से सारे सबूत और नमूने को जब्त किया गया. मृतक व्यवसायी दंपत्ति ने अपने मासूम बच्चे की हत्या कर फंदे से झूलकर अपनी जान दे दी थी. 

25 फरवरी की अहले सुबह किराए के मकान से पुलिस ने एक साथ घर से तीन शव बरामद किया था. बता दें कि मृतक मनीष झा कटिहार मेडिकल कॉलेज के पास अपने परिवार के साथ रहता था. मनीष ने मेस(खाना) का रोजगार शुरू किया था, लेकिन उसमें असफल रहे और उनपर बहुत सारा कर्ज आ गया.

लेकिन परिजनों की मानें तो उसने कर्ज चुका दिया था. इसके बावजूद सूदखोर उसे ब्लैंक्स चेक और स्टॉम्प का हवाला दे कर प्रताड़ित करते थे. पुलिस ने फिलहाल मृतक के सुसाइड नोट को जांच का आधार बनाया है.