close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नालंदा: गैंगरेप का वीडियो वायरल होते ही एक्शन में आई पुलिस, 24 घंटों के अंदर आरोपी गिरफ्तार

 पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर न केवल पीड़िता को ढूंढ निकाला बल्कि सात आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है. गुरुवार देर शाम को पीड़िता और आरोपियो को बिहारशरीफ कोर्ट में पेश किया गया, जहां पर पीड़िता के बयान के आधार पर सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है. 

नालंदा: गैंगरेप का वीडियो वायरल होते ही एक्शन में आई पुलिस, 24 घंटों के अंदर आरोपी गिरफ्तार
पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर न केवल पीड़िता को ढूंढ निकाला बल्कि सात आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

दीपक विश्वकर्मा, नालंदा: बिहार के राजगीर में नाबालिग के साथ गैंगरेप मामले में वीडियो वायरल होने के महज 24 घंटे के अंदर नालंदा पुलिस ने कार्रवाई की है. पुलिस ने वायरल वीडियो के आधार पर न केवल पीड़िता को ढूंढ निकाला बल्कि सात आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है.

गुरुवार देर शाम को पीड़िता और आरोपियो को बिहारशरीफ कोर्ट में पेश किया गया, जहां पर पीड़िता के बयान के आधार पर सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है. इस मामले में सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड करने वाले शख्स पर भी पॉस्को एक्ट सहित कई सख्त धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है.

 

आपको बता दें कि16 सितंबर को ये नाबालिग बच्ची अपने दोस्त के साथ राजगीर के लेनिननगर पहाड़ पर गई थी. उसी समय गांव के कुछ लड़कों ने इन्हें देख लिया था. पहले तो बच्ची के साथ छेड़छाड़ की गई फिर 5 लड़कों ने बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. वहीं, दो लड़कों ने पूरे घटनाक्रम का वीडियो बनाया. आरोपियों ने बच्ची को वाडियो वायरल करने की धमकी दी जिसके चलते बच्ची ने अपने घरवालों को कुछ नहीं बताया. लेकिन अचानक 23 सितंबर को वीडियो वायरल हो गया.

वायरल वीडियो की खबर मीडिया में भी चली, जिसके बाद नालंदा एसपी निलेश कुमार ने तफ्तीश शुरू कर दी. सबसे पहले पुलिस ने लोकेशन को ट्रेस किया गया. जिसके बाद लड़की के बारे में किसी को जानकारी न मिले इसलिए एसपी ने सादे ड्रेस में उस लड़की के घर जा कर उससे बातचीत की और कार्रवाई का भरोसा दिया. पीड़िता के बयान पर राजगीर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई और फिर महज 24 घंटे के अंदर सभी आरोपियों को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया. साथ ही बच्ची का मेडिकल चेकअप भी करवाया गया है.

एसपी ने कहा है कि इन लोगों को स्पीडी ट्रायल के तहत सख्त से सख्त सजा दिलाई जाएगी. उन्होंने साथ ही कहा कि सोशल मीडिया पर वीडियो अपलोड करने वाले और लड़की की पहचान बताने वालों के ऊपर भी पॉस्को सहित कई सख्त धाराएं लगाई जाएंगी और उन्हें भी जल्द ही जेल भेजा जाएगा.

मिली जानकारी के अनुसार वीडियो वायरल होने के तुरंत बाद नालंदा एसपीस और राजगीर डीएसपी के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया था जिसमें राजगीर, सिलाव, नालंदा और छबीला पुर थाना पुलिस को आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की जिम्मेदारी दी गई थी. 
Saloni Srivastava, News Desk