प्रशांत किशोर के बयान से मचा सियासी बवाल, कहा- मैं पीएम और सीएम बनाने में मदद कर सकता हूं तो...

प्रशांत किशोर के बयान पर बिहार में सियासी बवाल मच गया है.

प्रशांत किशोर के बयान से मचा सियासी बवाल, कहा- मैं पीएम और सीएम बनाने में मदद कर सकता हूं तो...
प्रशांत किशोर के बयान पर विपक्ष हमलावर हो रहा है. (फाइल फोटो)

पटनाः जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में आ गए हैं. उनके पीएम और सीएम बनाने के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया हो रही है. कांग्रेस ने प्रशांत किशोर को पागल करार दिया है, तो भाजपा का कहना है कि पीएम और सीएम जनता चुनती है, कोई नेता नहीं. वहीं, जेडीयू प्रशांत किशोर के बयान का बचाव कर रही है. 

चुनाव के रणनीतिकार से राजनीति में आये प्रशांत किशोर के एक बयान पर सियासी खलबली मच गयी है. प्रशांत किशोर ने मुजफ्फरपुर में युवाओं के साथ संवाद करते हुये कहा था कि जब हम पीएम और सीएम बना सकते हैं, तो मुखिया, एमएलए और एमपी क्यों नहीं? 

इस बयान के सामने आने के बाद राजनीतिक दलों की प्रतिक्रियाओं का दौर शुरू हो गया. विरोधी राजद के नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि पीएम और सीएम बनाने से मुश्किल काम मुखिया बनाना है, जबकि कांग्रेस ने प्रशांत किशोर की काबिलियत पर ही सवाल खड़ा कर दिया. 

जदयू की सहयोगी भाजपा ने भी प्रशांत किशोर को बयान पर नसीहत दी है. पार्टी प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने कहा कि किसी को इस बात की मुगालते में नहीं रहना चाहिये, कि वो पीएम और सीएम का चुनाव करते हैं. पीएम और सीएम को जनता बनाती है, जबकि जदयू प्रशांत किशोर के बचाव में उतर आयी है. 

प्रशांत किशोर ने भले ही चुनावों में होनेवाले मैनेजमेंट को देखते हुये बयान दिया है, लेकिन उनके बयान पर सियासी नफा-नुकसान साधने का दौर शुरू हो गया है. इससे साफ है कि आनेवाले दिनों में भी प्रशांत किशोर विपक्ष के निशाने पर रहेंगे, क्योंकि जिस तरह की रणनीति पीके बना रहे हैं, वो राजनीतिक दलों को हजम नहीं हो रही है.