रांची: कृषि बिल पर सियासत जारी, संजय सेठ बोले- बिचौलिए को हो रहा दर्द, किसान हैं खुश

 सजंय सेठ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, कृषि बिल भारत की आजादी के बाद किसान के हित मे सबसे बड़ा काम है. उन्होंने कहा कि देश के किसान की किसनियत और खेती आगे बढ़ें और किसान आत्मनिर्भर बनें इस लिए बिल लाया गया है. 

रांची: कृषि बिल पर सियासत जारी, संजय सेठ बोले- बिचौलिए को हो रहा दर्द, किसान हैं खुश
संजय सेठ ने कहा कि किसान की मेहनत की कमाई बिचौलिए खाते थे. (फाइल फोटो)

रांची: केंद्र सरकार के कृषि बिल के समर्थन में रांची से बीजेपी सांसद सजंय सेठ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, कृषि बिल भारत की आजादी के बाद किसान के हित मे सबसे बड़ा काम है. उन्होंने कहा कि देश के किसान की किसनियत और खेती आगे बढ़ें और किसान आत्मनिर्भर बनें इस लिए बिल लाया गया है. 

संजय सेठ ने कहा कि किसान की मेहनत की कमाई बिचौलिए खाते थे. उनके दाम भी वही तय करते थे इसलिए अभी इस बिल को लेकर जो दर्द हो रहा है लोगों को वो बिचौलिए को ही दर्द हो रहा है. कहीं भी जो प्रदर्शन हो रहा है उसमें किसान नजर नहीं आ रहा है. 

उन्होंने इस दौरान कहा कि विरोध के कार्यक्रम में कांग्रेस के मंत्री, नेता फोटो खिंचवाते नजर आए. पार्टी में वे अपना अंक बढ़ा रहे थे. पीएम मोदी देश से इंस्पेक्टर राज और बिचौलिए खत्म कर रहे हैं. खेती के क्षेत्र में अब किसान को छोटा बाजार नहीं पूरा देश उनके लिए बाजार खुला है. वो खुद मूल्य तय करें और कहीं भी अपना उत्पाद बेचे, जहां पैसा ज्यादा मिल रहा हो.

वहीं जेएमएम ने कहा , पुरानी महाजनी प्रथा को फिर से कायम करने की कोशिश की जा रही है. इसके खिलाफ गुरुजी ने आंदोलन किया है और उसी आंदोलन को फिर से आगे बढाना है. यदि खेत मे डाका पड़ेगा, तो फिर माल कॉरपोरेट के पास चला जाएगा और किसान को कुछ नहीं मिलेगा. हम अपने राज्य में लागू इसे नहीं होने देंगे.