चाईबासा नरसंहार पर सियासी घमासान, सीएम ने कहा- यह मेरे परिवार की घटना, BJP न करे राजनीति

चाईबासा रवाना होने से पहले सीएम हेमंत सोरेन ने इसे राज्य की घटना के बजाए परिवार की घटना बताते हुए कहा कि इस दुख की घड़ी में वह पीड़ित परिवार के साथ हैं. उन्होंने कहा कि गुनहगार जो भी हों, अपराधी हों या लापरवाही बरतने वाले सभी पर कार्रवाई होगी.

चाईबासा नरसंहार पर सियासी घमासान, सीएम ने कहा- यह मेरे परिवार की घटना, BJP न करे राजनीति
चाईबासा नरसंहार पर बीजेपी-जेएमएम में तेज हुई सियासत

जमशेदपुर: चाईबासा में 7 लोगों की हत्या के बाद सूबे में सियासत भी शुरू हो गई है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने चाईबासा जाने से पहले कहा- यह राज्य की घटना नहीं बल्कि हमारे परिवार की घटना है. वहीं, बीजेपी ने पूरे घटना के लिए सीएम को दोषी ठहराया है. उन्होंने कहा कि सीएम की ओर से पहली कैबिनेट में पत्थलगड़ी समर्थकों पर से देशद्रोह के मुकदमे को हटाने के लिए गए फैसले की वजह से हुआ है.

गुरुवार को जब मुख्यमंत्री चाईबासा के गुदड़ी दौरे पर पहुंचे तो इसपर बीजेपी ने तंज कसा. बीजेपी ने कहा कि जब पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने संज्ञान ले कर 6 सदस्यीय कमिटी का गठन किया, तब सीएम ने आनन-फानन में जाने का फैसला लिया है. 

जेएमएम ने बीजेपी पर घटना के राजनीतिकरण का आरोप लगाया है. झारखंड के चाईबासा में 7 लोगों की हत्या अब सियासी रंग लेती जा रही है. चाईबासा रवाना होने से पहले सीएम हेमंत सोरेन ने इसे राज्य की घटना के बजाए परिवार की घटना बताते हुए कहा कि इस दुख की घड़ी में वह पीड़ित परिवार के साथ हैं. उन्होंने कहा कि गुनहगार जो भी हों, अपराधी हों या लापरवाही बरतने वाले सभी पर कार्रवाई होगी.

चाईबासा में जिन 7 लोगों की हत्या हुई है उन्हें पत्थलगड़ी विरोधी बताया जा रहा है. जबकि हत्या करने वाले को इसका समर्थक. पुलिस फिलहाल आपसी रंजिश की वजह से हुई घटना बता रही है. वहीं बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस घटना को लेकर 6 लोगों की एक कमेटी का भी गठन किया है, जो घटनास्थल पर जाएगी. इसके अलावा पार्टी कार्यालय में घटना को लेकर बीजेपी अनुसूचित जाति मोर्चा की बैठक हुई. 

चाईबासा की घटना सामने आने के बाद सियासी तल्खी बढ़ गई है. मुख्यमंत्री इसे परिवार की घटना बता रहे हैं तो बीजेपी घटना के लिए हेमंत सरकार और पत्थलगड़ी को लेकर लिए गए फैसले को जिम्मेदार ठहरा रही है.