close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मांझी-नीतीश मिलाप पर सियासत तेज, RJD बोली- 'कल क्या हो किसने जाना'

आरजेडी नेता नेता रामानुज यादव ने कहा कि सियासत में टूटना-जुड़ना लगा रहा है. यहां कुछ भी स्थाई नहीं होता है.

मांझी-नीतीश मिलाप पर सियासत तेज, RJD बोली- 'कल क्या हो किसने जाना'
मांझी-नीतीश के मिलाप पर सियासत. (त्सवीर- ANI)

पटना : बिहार में इफ्तार के पॉलिटिक्स का दौर जारी है. सोमवार को दो राजनीतिक दुश्मन जब वर्षों के बाद गले मिलते दिखे तो कयासों का बाजार गर्म हो गया. सोमवार को जीतनराम मांझी की इफ्तार पार्टी में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी पहुंचे. यहां दोनों वर्षों के बाद गले मिलते दिखे. मांझी-नीतीश मिलाप के बाद पूरे बिहार में सियासत तेज है. बयानों का दौर जारी है.

इस मुद्दे पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) फिलहाल कुछ भी खुलकर कहने से बच रही है. आरजेडी नेता नेता रामानुज यादव ने कहा कि सियासत में टूटना-जुड़ना लगा रहा है. यहां कुछ भी स्थाई नहीं होता है. कल क्या हो किसने जाना है. उन्होंने कहा देखते जाइए आगे-आगे क्या होता.

ज्ञात हो कि हम पार्टी प्रमुख जीतनराम मांझी ने सोमवार को इफ्तार पार्टी का आयोजन किया था, जिसमें आरजेडी, कांग्रेस समेत जेडीयू नेता शामिल हुए. कहा जाता है कि इफ्तार पार्टी आपसी सौहार्द के लिए होती है. ऐसे में इसका सियासी बातों से नहीं लेना देना. हालांकि, इन दिनों इफ्तार पार्टी को लेकर बिहार में जिस तरह से सियासत गरम है इससे सियासी मायनों से इनकार नहीं किया जा सकता है.

रविवार को जेडीयू के इफ्तार पार्टी में जीतनराम मांझी ने शिरकत की. जिसके बाद बिहार में राजनीति तेज हो गई. वहीं, सोमवार को जीतनराम मांझी के इफ्तार पार्टी में सीएम नीतीश कुमार खुद पहुंचे. जिसके बाद रविवार की राजनीति को और बल मिल गया.