close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: गिरिराज सिंह के बयान पर मचा बवाल, कांग्रेस ने कहा अल्जाइमर पीड़ित

कांग्रेस ने इस पर बड़ा हमला करते हुए पार्टी के प्रवक्ता ने कहा है कि गिरिराज को अल्जाइमर की बीमारी है. केंद्र सरकार को एम्स में इलाज करानी चाहिए और प्रधानमंत्री को उनको मंत्री पद से हटाना चाहिए.   

बिहार: गिरिराज सिंह के बयान पर मचा बवाल, कांग्रेस ने कहा अल्जाइमर पीड़ित
केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अपने बयानों से हमेशा सुर्खियों में रहते हैं. (फाइल फोटो)

पटना: केन्द्रीय पशुपालन मंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता गिरिराज सिंह के बयान- 'राजनीति से अगर हटा तो कई लोगों को राजनीति से हटा दूंगा' पर जेडीयू-बीजेपी ने चुपी साधी तो आरजेडी ने कहा है कि ये बयान समझ से परे है. वहीं, कांग्रेस ने इस पर बड़ा हमला करते हुए पार्टी के प्रवक्ता ने कहा है कि गिरिराज को अल्जाइमर की बीमारी है. केंद्र सरकार को एम्स में इलाज करानी चाहिए और प्रधानमंत्री को उनको मंत्री पद से हटाना चाहिए. 

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह अपने बयानों से हमेशा सुर्खियों में रहते हैं. कभी मंदिर को लेकर, तो कभी इशारों ही इशारों में नीतीश कुमार पर तंज कसकर. इसी क्रम में बीजेपी के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह ने कहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी की दूसरी पाली के समापन के साथ ही मेरे राजनीतिक जीवन का भी समापन हो जाएगा. अभी 24 घंटे भी नहीं बीते थे कि फिर यू-टर्न लेते हुए कहा कि अभी राजनीति से संन्‍यास लेने वाला नहीं हूं. राजनीति में क्रांति लाऊंगा, पहले कितनों को हटा दूंगा.

 

वहीं, जेडीयू और बीजेपी ने गिरिराज के इस बयान के आने के बाद चुप रहना मुनासिब समझा तो आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि गिरिराज सिंह ने जिस तरह का बयान दिया है इसका जवाब वही समझा सकते हैं. हो सकता है वो नीतीश कुमार पर निशाना साध रहे हैं. इससे पहले भी वह निशाना साधते रहते हैं लेकिन गठबंधन की स्थिति बहुत अच्छी नहीं है. गिरिराज सिंह के अलावा बीजेपी के कई बड़े नेताओं का बयान आया है जो गठबंधन के अनुरूप नहीं है

तो वहीं, कांग्रेस ने गिरिराज सिंह पर बड़ा हमला किया है. पार्टी के प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा है कि गिरिराज सिंह को अल्जाइमर यानी भूलने की बीमारी है. उन्होंने कहा था कि राजनीति से सन्यास ले लेंगे. उससे एक दिन पहले उन्होंने कहा था कि आत्महत्या कर लेंगे. इसलिए लगता है कि उन्हें भूलने की बीमारी है. केंद्र सरकार को उनका इलाज एम्स में कराना चाहिए. 

गौरतलब है कि केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह इनदिनो लगातार बिहार सरकार के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं. वहीं, उनके निशाने पर सीधे-सीधे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार है और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी हैं. यही कारण है की बीजेपी और जेडीयू ने उनके कई बयानों से दूरी बना रखा है.