बिहार: आरक्षण पर सुशील मोदी के बयान की मांझी ने की तारीफ, तो सहयोगियों ने किया किनारा

शिवानन्द तिवारी ने कहा कि, जीतन राम मांझी क्या बोलते हैं, हमें उससे कोई लेना देना नहीं है. लेकिन सुशील मोदी एससी-एसटी प्रमोशन में आरक्षण और क्रीमीलेयर पर खुद कैसे फैसला ले सकते हैं.

बिहार: आरक्षण पर सुशील मोदी के बयान की मांझी ने की तारीफ, तो सहयोगियों ने किया किनारा
बिहार: आरक्षण पर सुशील मोदी के बयान की मांझी ने की तारीफ, तो सहयोगियों ने किया किनारा. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार में एससी/एसटी (SC/ST) प्रमोशन में आरक्षण और क्रिमीलेयर मामले में सियासत गरमाई हुई है. एक तरफ जहां बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी (Sushil Modi) के बयान की पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तान आवाम मोर्चा (HAM) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने प्रशंसा की है. तो वहीं, मांझी के फैसले से उनके सहयोगी दलों ने किनारा किया है.

आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानन्द तिवारी ने कहा कि, जीतन राम मांझी क्या बोलते हैं, हमें उससे कोई लेना देना नहीं है. लेकिन सुशील मोदी एससी-एसटी प्रमोशन में आरक्षण और क्रिमीलेयर पर खुद कैसे फैसला ले सकते हैं. फैसला केंद्र को लेना है. केंद्र सरकार बोले तब हमें भरोसा होगा.

वहीं, कांग्रेस नेता और एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि, जीतन राम मांझी ऐसा क्यों बोल रहे हैं, यह हम नहीं बता सकते हैं. लेकिन हमें पता है कि सुशील मोदी केवल झूठ बोलने वाले नेता हैं. दलों की राय कुछ भी, लेकिन हम ये मानते हैं कि, सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के फैसले का सम्मान करना चाहिए.

इधर, जे़डीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा कि, यूपीए (UPA) में रहकर जीतनराम मांझी सच बोलेंगे तो उन्हें, फुटबाल बना दिया जाएगा. सुशील मोदी ने सच बोला है और मांझी सच स्वीकार रहे हैं. यह हकीकत है कि, आरक्षण खत्म नहीं हो सकता हैं.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भी इस बात को बोल चुके हैं. विपक्ष अफवाह फैलाना बंद करे. आरक्षण तो खत्म नहीं होगा विपक्ष खुद खत्म हो जाएगा.