बिहार: 'पोस्टर पॉलिटिक्स' से गरमाई सियासत, JDU ने स्पेलिंग मिस्टेक को बनाया मुद्दा

बिहार सरकार में मंत्री और जेडीयू नेता अशोक चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार और लालू यादव के बीच की तुलना नहीं है. आपके कामों की वजह से ही जनता ने आपको सत्ता से बाहर किया था.

बिहार: 'पोस्टर पॉलिटिक्स' से गरमाई सियासत, JDU ने स्पेलिंग मिस्टेक को बनाया मुद्दा
आरजेडी कार्यालय के बाहर लगाया गया पोस्टर.

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में अभी 9 से 10 महीने का समय बाकी है. लेकिन उससे पहले ही बिहार में 'पोस्टर पॉलिटिक्स' शुरू हो गया है. इस बीच आरजेडी की तरफ एक साथ 10 पोस्टर सामने आया है. इस पोस्टर में एक तरफ आरजेडी (RJD) सुप्रीमो लालू यादव (Lalu Yadav) तो दूसरी तरफ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की तस्वीर लगी है. 

इन सभी पोस्टरों को पटना में आरजेडी के कार्यालय के बाहर लगाया गया है. इसमें लालू बनाम नीतीश कुमार के शासनकाल की तुलना की गई है. पोस्टर में लालू यादव की तस्वीर लगी है. साथ ही उनकी तारीफ की गई है और नीतीश कुमार पर निशाना साधा गया है. वहीं, जेडीयू की तरफ से पोस्टर में स्पेलिंग मिस्टेक का मुद्दा बनाया गया है और तेजस्वी यादव को किताब भेजने का काम किया है.

इधर, आरजेडी के पोस्टर पर जेडीयू ने निशाना साधा है. बिहार सरकार में मंत्री और जेडीयू नेता अशोक चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार और लालू यादव के बीच की तुलना नहीं है. आपके कामों की वजह से ही जनता ने आपको सत्ता से बाहर किया था. उन्होंने लालू यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि अब आप जेल से ट्वीट कर रहे हैं. जनता ने आपको सबक सिखाया था. इस बार आप 25 सीटों पर आ जाएंगे.

वहीं, आरजेडी प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने भी जेडीयू पर निशाना साधा है. भाई वीरेंद्र ने कहा कि पुलिस पर हमला हो रहा है. जेल के अंदर अपराधियों द्वारा हत्या करवाई जा रही है. जबकि मुख्यमंत्री जात-पात की राजनीति करने में लगे हैं. उन्होंने कहा कि आज पूरे बिहार में जनता की एक ही मांग है कि मुख्यमंत्री गद्दी छोड़ो की तेजस्वी यादव आता है.

इधर, आरजेडी के पोस्टर में कई स्पेलिंग मिस्टेक नजर आएं तो जेडीयू ने इसे मुद्दा बना लिया. इसको लेकर जेडीयू नेता नीरज कुमार ने कहा कि हम तेजस्वी यादव को मनोहर पोथी साक्षर करने के लिए भेज रहे हैं. इससे वह अपने कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करें.

वहीं, आरजेडी ने नीरज कुमार के किताब भेजने पर निशाना साधा है. पार्टी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि टॉपर घोटाले के लोग हमें शिक्षा का ज्ञान न दें. पोस्टर के शब्दों को देखने की जरूरत नहीं है. उसके भाव को समझने की जरूरत है.