close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड कांग्रेस में गहराता जा रहा है विवाद, लोहरदगा में नेताओं का पोस्टर वार

त्यौहारों पर लगे पार्टी की पोस्टर में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह विधायक सुखदेव भगत की तस्वीर को जगह नहीं दी गई है.

झारखंड कांग्रेस में गहराता जा रहा है विवाद, लोहरदगा में नेताओं का पोस्टर वार
झारखंड कांग्रेस में बगावत. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लोहरदगा: रामेश्वर उरांव जब से झारखंड कांग्रेस (Congress) के नए अध्यक्ष बने हैं, तब से झारखंड प्रदेश कांग्रेस में विवाद दिनों-दिन गहराता ही जा रहा है. उनके बयानों से लगातार पार्टी को किरकिरी का सामना करना पड़ता है. सोशल मीडिया में उरांव अपने नित्य नए विवादित बयानों से चर्चा में रहते हैं. वहीं, लोहरदगा-गुमला मुख्य पथ के मिशन चौक और बरवाटोली में कांग्रेस पार्टी के पोस्टर से तो यही पता चल रहा है कि अंदर गुटबाजी चल रही है. 

त्यौहारों पर लगे पार्टी की पोस्टर में पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह विधायक सुखदेव भगत की तस्वीर को जगह नहीं दी गई है. पोस्टर में कांग्रेस पार्टी के केंद्रीय और प्रदेश नेतृत्व के साथ राज्यसभा सांसद धीरज प्रसाद साहू को तो जगह मिली, लेकिन स्थानीय विधायक गायब हैं. सूखैर भगत जो कि प्रदेश प्रतिनिधि लिख रहे हैं, वे कांग्रेस में अपनी कद पोस्टर के माध्यम से बढ़ाने में लगे हैं.

वहीं, जब सूखदेव भगत ने अपने पोस्टर लगवाए हैं, उसमें पार्टी का निशान तक नहीं है. वहीं, उनकी पत्नी सह कांग्रेस पार्टी के नगर परिषद अध्यक्ष अनुपमा भगत ने अपने पोस्टर में कांग्रेस के केंद्रीय कमेटी का जिक्र तो किया है, लेकिन प्रदेश और स्थानीय कांग्रेस नेता की तस्वीर को जगह नहीं दिया गया है.

प्रदेश कांग्रेस में मचे पोस्टर वार के बीच प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व और विधायक एक-दूसरे को पछाड़ने में लगे हैं. हालांकि इस पोस्टर वार के जरिए जिला अध्यक्ष साजिद अहमद चंगु ने अलग रुख अपनाया है. उन्होंने कहा कि पार्टी में कोई स्वघोषित नहीं होता. यह आलाकमान तय करते हैं.

-- Paintu Kumar Jha, News Desk