बिहार: मुंगेर के प्रणव ने किया जिले का नाम रोशन, न्यायिक सेवा परीक्षा में पाई बड़ी सफलता

मुंगेर शहर के संदलपुर के रहने वाले सत्यदेव सिंह के 25 साल के बेटे प्रणव कुमार ने अपने मां-बाप का नाम रोशन किया है. प्रणव ने बिहार न्यायिक सेवा की परीक्षा में पहले ही प्रयास में 284वां रैंक हासिल किया.   

बिहार: मुंगेर के प्रणव ने किया जिले का नाम रोशन, न्यायिक सेवा परीक्षा में पाई बड़ी सफलता
प्रणव कुमार ने अपने पहले ही प्रयास में बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा में सफलता हासिल की.

मुंगेर: बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा में सफलता हासिल कर प्रणव ने मुंगेर का नाम रोशन किया. मुंगेर के लाल प्रणव कुमार ने अपने पहले ही प्रयास में बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा में सफलता हासिल कर मुंगेर का नाम रौशन किया.

मुंगेर शहर के संदलपुर के रहने वाले सत्यदेव सिंह के 25 साल के बेटे प्रणव कुमार ने अपने मां-बाप का नाम रोशन किया है. प्रणव ने बिहार न्यायिक सेवा की परीक्षा में पहले ही प्रयास में 284वां रैंक हासिल किया. 

प्रणव अपनी इस सफलता का पूरा श्रेय अपने परिवार दिया है. अपनी इस सफलता के बारे में प्रणव के बारे में है कि इसमें परिवार वालों का बहुत ही सकारात्मक योगदान रहा है. उनके पिता एक रेल कर्मचारी है. साथ ही मां हाउस वाइफ हैं. उनके दादा जी की ये चाहत थी की वो ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट बने. 

प्रणव ने अपनी शुरुआती शिक्षा देहरादून बॉर्डिंग स्कूल से पूरी की है. जिसके बाद रांची के नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी से बीए एलएलबी की परीक्षा पास की है. फिर उन्होंने पहले ही प्रयास में ये सफलता हासिल की. 

प्रणव के पिता अपने के इस सफलता से बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. प्रणव के पिता का कहना है कि प्रणव बचपन से काफी मेहनती और लगनशील था. क्लास तीन से उसे देहरादून बोर्डिंग स्कूल में पढ़ने के लिए भेज दिया गया था. कभी भी उसने अपनी पढ़ाई में कोई कोताही नहीं बरती. और यही वजह है कि उसने ये मुकाम हासिल किया है. जिससे परिवार काफी गौरवान्वित महसूस कर रहा है.
Anupama Kumari, News Desk