close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

JDU की कार्यकारिणी बैठक में प्रशांत किशोर मौजूद, ममता के साथ काम को लेकर देंगे जवाब?

यह कार्यकारिणी बैठक पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार की अध्यक्षता में की जा रही है. जिसमें पार्टी से सभी अधिकारी समेत प्रदेश अध्यक्ष शामिल हैं.

JDU की कार्यकारिणी बैठक में प्रशांत किशोर मौजूद, ममता के साथ काम को लेकर देंगे जवाब?
जेडीयू कार्यकारिणी की बैठक में प्रशांत किशोर शामिल हुए. (फोटो साभारः ANI)

पटनाः जेडीयू पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक पटना स्थित एक अण्णे मार्ग सीएम आवास पर चल रहा है. यह कार्यकारिणी बैठक पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार की अध्यक्षता में की जा रही है. जिसमें पार्टी से सभी अधिकारी समेत प्रदेश अध्यक्ष शामिल हैं. वहीं, इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर भी मौजूद हैं.

जेडीयू की इस कार्यकारिणी बैठक पर सब की नजर है. क्योंकि इस बैठक में प्रशांत किशोर बंगाल में ममता बनर्जी के साथ काम करने को लेकर जवाब देंगे. पिछले हफ्ते से प्रशांत किशोर को लेकर पार्टी में गहमा गहमी चल रही है कि वह एनडीए कि धुर विरोधी पार्टी के लिए काम क्यों कर रहे हैं. वहीं, बीजेपी के कुछ नेताओं ने भी इस पर आपत्ति जाताई है.

पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक से पहले नीतीश कुमार ने भी जवाब दिया था कि प्रशांत किशोर सारे मसलों पर कार्यकारिणी बैठक में सबको बताएंगे. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि प्रशांत कि अपनी कंपनी है जो राजनीतिक दलों के लिए काम करती है. जेडीयू में शामिल होने से पहले ही वह कंपनी के लिए काम कर रहे हैं और उसके बाद भी वह अपने काम को कर रहे हैं. इससे पार्टी को कोई लेना देना नहीं है. जेडीयू महासचिव केसी त्यागी ने भी कहा था कि उनकी पार्टी को उनकी कंपनी के कामों से कोई लेना देना नहीं है.

अब इस बात पर सवाल है कि क्या प्रशांत किशोर कार्यकारिणी बैठक में इस मामले पर पार्टी को जवाब देंगे? जब पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने ही कह दिया कि वह पार्टी में आने से पहले और आने के बाद कंपनी के लिए काम कर रहे हैं और इससे पार्टी को कोई लेना देना नहीं है तो इससे साफ है कि वह प्रशांत किशोर को पहले से ही इस बात की इजाजत दे रखें हैं कि वह यह काम कर सकते हैं.

हालांकि, बिहार में पार्टी और एनडीए के सहयोगी दलों द्वारा इसका विरोध करने पर नीतीश कुमार इस मामले में प्रशांत किशोर से जवाब तलब कर सकते हैं. क्योंकि, इससे पहले वह पार्टी में रहकर एनडीए की धुर विरोधी पार्टियों के लिए काम नहीं किया है.

नीतीश कुमार ने शनिवार को सदस्यता अभियान के आयोजन में उन्होंने कहा था कि वह बीजेपी के साथ काम कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे. वह एनडीए में रहकर ही काम करेंगे. ऐसे में एनडीए की धुर विरोधी पार्टी टीएमसी और ममता बनर्जी को विधानसभा चुनाव में मदद करना पार्टी और प्रशांत किशोर पर सवाल खड़ा कर रहा है.