close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारिश के बाद बिहार में डेंगू का कहर, सरकार का दावा- 'पटना में नहीं है कोई महामारी'

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने दावा किया कि हर मोहल्ले में छिड़काव किया जा रहा है. घर-घर तक डीडीटी पाउडर का छिड़काव किया जा रहा है.

बारिश के बाद बिहार में डेंगू का कहर, सरकार का दावा- 'पटना में नहीं है कोई महामारी'
स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने दी जानकारी.

पटना: बिहार सरकार (Bihar Government) के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा है कि पटना में कोई महामारी नहीं है. बीते साल की तुलना में इस साल डेंगू (Dengue) के मरीजों की संख्या में कमी आई है. डरने की कोई बात नहीं है, लेकिन लोग सचेत रहे. संजय कुमार ने कहा कि अपने घर के अंदर जमा पानी को हटाएं, क्योंकि साफ पानी में ही डेंगू का मच्छर पनपता है. उन्होंने कहा कि 10 से 12 अक्टूबर के बीच निशुल्क जांच शिविर चलेगा.

प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा कि पीएमसीएच (PMCH) में डेंगू की जांच को लेकर स्वास्थ्य शिविर लगाया जाएगा. इस साल डेंगू के मरीजों में प्लेटलेट्स 50 हजार से नीचे नहीं जा रहा है. यह हमारे लिए राहत की बात है.

उन्होंने दावा किया कि हर मोहल्ले में छिड़काव किया जा रहा है. घर-घर तक डीडीटी पाउडर का छिड़काव किया जा रहा है. प्लस पोलियो अभियान के साथ डीडीटी वितरण अभियान को जोड़ा गया है. शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में विशेष शिविर लगाया गया है.

ज्ञात हो कि पटना सहित पूरा बिहार डेंगू और चिकनगुनिया की जद में है. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, बिहार में डेंगू के 1009 मरीज मिले हैं. पटना में डेंगू के सबसे अधिक 662 मरीज हैं. वहीं, भागलपुर में डेंगू के 95 और मुजफ्फरपुर में 12 मरीज मिले हैं. वहीं, चिकनगुनिया की बात करें तो अकेले पटना में 76 मरीज मिले हैं.