close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड: जेडीयू में सबकुछ ठीक नहीं, उम्मीदवार का नाम घोषित होते ही विरोध शुरू

जेडीयू की ओर से गुरुवार को साकची स्थित उत्कल एसिसएशन सभागार में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम में नव नियुक्त प्रदेश और जिला के पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया साथ ही 8 विधानसभा के लिए संभावित उम्मीदवारों की घोषणा की गई. सभी नेता मंच पर थे.   

झारखंड: जेडीयू में सबकुछ ठीक नहीं, उम्मीदवार का नाम घोषित होते ही विरोध शुरू
जेडीयू की ओर से गुरुवार को साकची स्थित उत्कल एसिसएशन सभागार में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था.

रांची: झारखंड में नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू के विरोध के साथ पार्टी द्वारा आसन्न विधानसभा चुनाव के लिए जारी संभावित उम्मीदवारों की सूची का भी विरोध होने लगा है. सबसे ज्यादा विरोध जमशेदपुर पश्चिम सीट को लेकर है. इसे लेकर जमकर हंगामा और विरोध-प्रदर्शन भी हुआ.

जेडीयू की ओर से गुरुवार को साकची स्थित उत्कल एसिसएशन सभागार में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम में नव नियुक्त प्रदेश और जिला के पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया साथ ही 8 विधानसभा के लिए संभावित उम्मीदवारों की घोषणा की गई. सभी नेता मंच पर थे. 

 

जैसे ही प्रदेश अध्यक्ष सालखन मुर्मू ने संभावित उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की, जमशेदपुर पश्चिम सीट से जिलाध्यक्ष संजीव आचार्य के नाम का विरोध शुरू हो गया. यहां पार्टी नेता निर्मल सिंह के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया. वो मंच पर चढ़कर प्रदेश पदाधिकारियों के समक्ष नारेबाजी करने लगे. विरोध प्रदर्शन को देख जिलाध्यक्ष और जमशेदपुर पश्चिम से उम्मीदवार संजीव आचार्य ने मंच से ही सालखन मुर्मू जिंदाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए तो निर्मल सिंह समर्थकों ने भी निर्मल सिंह जिंदाबाद के नारे लगाए.

माहौल पूरी तरह गर्म हो चुका था जिसे बाद में अन्य नेताओं ने शांत कराया. मामले को लेकर निर्मल सिंह के समर्थकों ने कहा कि निर्मल सिंह हमारा उम्मीदवार है, क्षेत्र में उसको सभी जानते हैं. जिसको टिकट दिया गया है, उसे कौन जानता है. कार्यक्रम में भी इचागढ़ से लोगों को लाकर भीड़ लगाया गया है. हालांकि वो किसके समर्थन में आए हैं, यह पूछे जाने पर एकबारगी वो निर्मल सिंह का नाम भूल गए.

वहीं, जेडीयू जिलाध्यक्ष ने कहा है कि जो लोग चुनाव लड़ने की आस लगाए बैठे हैं, उनके मंसूबों पर पानी फिरने के कारण विरोध हो रहा है. सालखन मुर्मू और नीतीश कुमार के नेतृत्व में हम ज्यादा से ज्यादा सीट जीतेंगे.

उन्होंने कहा कि कोई प्राथमिक सदस्य भी नहीं है, सभी भाड़े के टट्टू हैं. विरोध का ट्रेंड चल रहा है. हम समाजवादी हैं, काम करेंगे और नीतीश कुमार और सालखन मुर्मू के हाथों को मजबूत करेंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि बीजेपी खुद को डबल इंजन की विकास वाली पार्टी कहती है, लेकिन वह झारखंड के लिए डबल विनाश और झामुमो डबल लीडर वाली पार्टी है. इसने 19 साल से झारखंडियों और मूलवासियों का वोट लिया लेकिन उनके लिए एक भी काम नहीं किया. अब जदयू ही एकमात्र विकल्प है.