Bihar के लाल को मिलेगा राष्ट्रपति सम्मान,पुलवामा के Mastermind जाकिर मूसा को किया था ढेर

President Award: पहला मुठभेड़ 2019 को हुआ, जिसमें उनकी टीम ने जाकिर मूसा को मारा गिराया था. जबकि दूसरा मुठभेड़ 2019 को JK में हुआ, जिसमें उन्होंने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी जुनैद को ढेर किया था.  

Bihar के लाल को मिलेगा राष्ट्रपति सम्मान,पुलवामा के Mastermind जाकिर मूसा को किया था ढेर
सीआरपीएफ जवान आकाश कुमार बादल को राष्ट्रपति अवार्ड मिलेगा

Munger: नगर निगम क्षेत्र के वार्ड संख्या 11 कटघर निवासी सीआरपीएफ (CRPF) जवान आकाश कुमार बादल (Akash Kumar Badal) को उनके अदम्य साहस और पराक्रम के लिए राष्ट्रपति अवार्ड (President Award) से सम्मानित किया जाएगा. आकाश अभी बतौर सब इंस्पेक्टर पुलवामा (Pulwama) में तैनात हैं. अपनी टीम का नेतृत्व करते हुए उन्होंने 31 मई 2019 को जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir)के त्राल में हुए आतंकी मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के आतंकी जुनैद को ढेर किया था.

बिहार (Bihar) पुलिस से रिटायर्ड इंस्पेक्टर हरिनंदन पासवान के मंझले बेटे आकाश ने साल 2013 में सीआईएसएफ (CISF) में कॉन्स्टेबल के रूप में जॉइन किया. उसके बाद वर्ष 2015 में सीपीओ का एग्जाम देने के बाद वो सीआरपीएफ में सब इंस्पेक्टर के रूप में 183 बी बटालियन में पुलवामा में तैनात हुए.

ये भी पढ़े- एक बार फिर चर्चा में हैं 'सुपर 30' हीरो Anand Kumar, जानिए क्या है वजह...

जानकारी के अनुसार, जिस समय पुलवामा में सेना के कैंप पर आतंकी हमला हुआ, उस समय आकाश वहीं पर क्यूआरटी में तैनात थे. आकाश ने दो आंतकी मुठभेड़ का नेतृत्व किया है. पहला मुठभेड़ 24 मई 2019 को हुआ, जिसमें उनकी टीम ने जाकिर मूसा को मारा गिराया था. जबकि दूसरा मुठभेड़ 31 मई 2019 को जम्मू-कश्मीर के त्राल स्थित नानेर में हुआ, जिसमें उन्होंने जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी जुनैद को ढेर किया था.  

इस बारे में जानकारी देते हुए आकाश कुमार बादल ने बताया कि '31 मई 2019 को सीआरपीएफ को सूचना मिली थी कि त्राल के नानेड़ में दो आतंकी एक मकान में छिपे हैं. इसके बाद उन्होंने आर्मी के साथ मिलकर ज्वाइंट आपरेशन चलाया. इस क्रम में एक-एक घर की तलाशी ली गई, फिर वे उस घर के नजदीक पहुंचे जिसमें दोनों आतंकी छिपे थे. उनकी टीम को देख आतंकियों ने गोलीबारी शुरु कर दी. 

ये भी पढ़े- Bihar में Quality education के लिए सरकार ने उठाए बड़े कदम, 3 एजेंसियां मदद के लिए आईं आगे

इसी दौरान अचानक एक गोले से मकान के बाहर आग लग गई, जिससे बचने के लिए जुनेद अहमद बाहर भागने लगा. इस क्रम में उन्होंने तथा उनके एक अन्य साथी ने मिलकर जुनैद को वहीं ढेर कर दिया. उन्होंने बताया कि फिलहाल उनका स्थानांतरण पुलवामा से कोबरा बटालियन छत्तीसगढ़ में किया गया है'. आकाश को राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित होने की सूचना के बाद योग नगरी में खुशी का माहौल है.

(इनपुट-प्रशांत कुमार)