भीमनगर में पुलिस के हत्थे चढ़े कैश वैन के दो कर्मी, शराब पीकर चला रहे थे गाड़ी
topStories0hindi1524681

भीमनगर में पुलिस के हत्थे चढ़े कैश वैन के दो कर्मी, शराब पीकर चला रहे थे गाड़ी

भीमनगर ओपी अंतर्गत भीमनगर वार्ड 10 स्थित नेपाल सीमा वाली मुख्य सडक के समीप कैश वैन गाड़ी चालक पप्पू कुमार ने एक बाइक और साइकिल पर अपनी गाड़ी चढ़ा दीं।जिस दौरान खड़े लोग बाल-बाल बच गए.

भीमनगर में पुलिस के हत्थे चढ़े कैश वैन के दो कर्मी, शराब पीकर चला रहे थे गाड़ी

सुपौल : सुपौल जिले के कैश वैन के दो कर्मी शराब पीने के मामले में भीमनगर पुलिस के हत्थे चढ़ गए. जबकि नशे में धूत दो कर्मी अपने हथियार छोड़ कर मौके से फरार हो गए. हालांकि पुलिस ने दो कर्मियों को ब्रेथ एलाइजर से जांच में शराब पीने की पुष्टि होने के बाद कैश वैन को जब्त कर कानूनी कार्रवाई में जुट गई है. 

क्या है पूरा मामला
दरअसल बुधवार के रात जिले के भीमनगर ओपी अंतर्गत भीमनगर वार्ड 10 स्थित नेपाल सीमा वाली मुख्य सडक के समीप कैश वैन गाड़ी चालक पप्पू कुमार ने एक बाइक और साइकिल पर अपनी गाड़ी चढ़ा दीं।जिस दौरान खड़े लोग बाल-बाल बच गए. वही उन लोगों ने गाड़ी में सवार लोगों को पकड़ कर स्थानीय भीमनगर पुलिस को घटना की सुचना दी. जिस के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने कैश वैन के चालक पप्पू कुमार और कैसियर आशीष कुमार को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर दी है. जांच में पता चला कैश वैन के दोनों कर्मी शराब के नशे में धुत हैं. इन दोनों को ब्रेथ एनालाइजर से भीमनगर पुलिस के द्वारा जांच के बाद शराब पीने की पुष्टि की गई है.

घटना के बाद मौके से फरार हुए कर्मी
बता दें कि पुलिस ने जांच के दौरान कैश वैन में से एख बंदूक बरामद की है. बंदूक के संबंध में दोनों पुलिस ने दोनों गिरफ्तार लोगों से बात की तो उन्होंने बताया कि गाड़ी में मुन्ना कुमार जो सुरक्षा गार्ड के रूप में तैनात हैं, यह उसकी बंदूक है. वही इस गाड़ी में पंकज कुमार जो कस्टोडियन के पद पर कार्यरत है दोनों ने भी शराब पी रखी थी. लोगों का विरोध करने पर वो मौके से फारार हो गए थे. 

घटना पर क्या कहते है पुलिस अधिकारी
भीमनगर ओपी के प्रभारी थाना अध्यक्ष दशरथ प्रसाद चौहान ने बताया कि कैश वैन गाड़ी को जब्त किया है. सडक दुर्घटना की सूचना पर पुलिस ने कैश वैन के दो कर्मियों को शराब पीने के मामले में शराब अधिनियम एक्ट के तहत ब्रेथ एनालाइजर से जांच के होने के बाद दोनों को हिरासत में रखा गया है. दोनों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर न्यायिक हिरासत में जेल भेजा जाएगा.

इनपुट- मोहन प्रकाश 

ये भी पढ़िए-  बिहार सरकार का फैसला बोर्ड परीक्षा आयोजित करने वाले शिक्षकों को जातीय सर्वे के कार्यों में मिलेगी छूट

Trending news