Saharsa: सांप काटने पर मरीज को अस्पताल ले गए परिजन, इलाज के साथ चला झाड़-फूंक का ड्रामा

Saharsa News: सहरसा सदर अस्पताल परिसर में सांप काटे हुए युवक को महिला तांत्रिक द्वारा झाड़फूंक किया गया.  

Saharsa: सांप काटने पर मरीज को अस्पताल ले गए परिजन, इलाज के साथ चला झाड़-फूंक का ड्रामा
सांप काटने पर अस्पताल में हुआ झाड़-फूंक

Saharsa: आज के दौर में एक तरफ जहां विज्ञान इतना आगे बढ़ गया है. वहीं, दूसरी ओर कुछ लोग आज भी अंधविश्वास में फंस कर जान जोखिम में डालने से बाज नही आते. दरअसल, बिहार के सहरसा जिले में सांप काटने के बाद सदर अस्पताल आए हुए एक युवक को महिला तांत्रिक द्वारा घंटों झाड़-फूंक किया गया और लोग तमाशबीन बने रहे.

वहीं, अस्पताल प्रशासन पूरे मामले से बेखबर बना रहा. सदर अस्पताल परिसर में सांप काटे हुए युवक को महिला तांत्रिक द्वारा झाड़फूंक किया गया. इस दौरान महिला तांत्रिक द्वारा पत्ते से युवक का झाड़-फूंक किया गया. बताया जाता है कि बीते कल सहरसा जिले के नरियार गांव का रहने वाला एक 30 वर्षीय युवक रंजीत यादव को सांप ने काट लिया, जिसके बाद आनन-फानन में उसे सदर अस्पताल में भर्ती किया गया.

अस्पताल में जब उसकी हालत बिगड़ने लगी तो उनके परिजन के द्वारा मैना महपुरा गांव से एक महिला तांत्रिक को बुलाया गया. इसके बाद महिला तांत्रिक के द्वारा उसे मंत्र उच्चारण कर के निम के पेड़ के पत्ते से झाड़-फूंक करना शुरू किया गया. घंटों यह तमाशा सदर अस्पताल परिसर में चलता रहा और अस्पताल प्रशासन मूकदर्शक बना रहा. इस दौरान वहां काफी भीड़ लग गयी और लोग तमाशा देखते रहे.

वहीं, परिजन ने बताया कि सांप काटने के बाद मरीज को लेकर सदर अस्पताल चले आए. यहां इलाज के बाद लगा कि शख्स अब बचने वाला नहीं है, इसलिए झाड़ फूंक वाले को बुला लाए. जब पूछा गया कि मरीज में सुधार हुआ तो पीड़ित के परिजन किरण देवी ने क्षेत्रीय भाषा बताया कि मरीज का देह पहले कैसनो नहीं कर रहा था लेकिन झाड़ फूंक के बाद देख रहे हैं कि मरीज का देह सुग-बुगा रहा है. 

एक अन्य सवाल के जवाब में महिला ने गुस्से में कहा कि तांत्रिक को कहीं से भी लाये आपको क्या मतलब है. वह तो भला करने के लिए ही आई थी ना. तांत्रिक सहरसा जिले के माहपुरा की रहने वाली है.

ये भी पढ़ें- पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर सियासत तेज, RJD बोली-सबको अरेस्ट करें CM नीतीश

वहीं, तांत्रिक महिला की मानें तो दवा से ठीक नहीं हुआ तो मैंने इसको झाड़-फूंक किया. अब वह ठीक हो जाएगा. तांत्रिक महिला ने कहा कि इसको सांप ने काट लिया है. उन्होंने ये भी बताया कि हम माहपुरा से आये हैं और मंदिर में रहते हैं. मुझे परिजनों के द्वारा बुलाया गया था मैं सदर अस्पताल में हूं. रणजीत 

आज के आधुनिक दौर में विज्ञान इतना तरक्की कर चुका है लोग चांद पर जाने की बात करते हैं तो वहीं कुछ लोग अंधविश्वास के चक्कर मे पड़ कर अपनी जान जोखिम में डाल देते हैं. ऐसे में जरूरी है कि लोग अंधविश्वास से ऊपर उठे और जान जोखिम में डालने से बचें.
 

(इनपुट- विशाल कुमार)