close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना: आर के श्रीवास्तव ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, 50 तरीकों से हल कर चुके हैं पाइथागोरस थ्योरम

किताब में यह जिक्र किया गया है कि आर के श्रीवास्तव ने पाइथागोरस थ्योरम को क्लासरूम प्रोग्राम में 52 अलग अलग तरीके से बिना रुके सिद्ध करके दिखाया है. 

पटना: आर के श्रीवास्तव ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, 50 तरीकों से हल कर चुके हैं पाइथागोरस थ्योरम
र के श्रीवास्तव ने पाइथागोरस थ्योरम को क्लासरूम प्रोग्राम में 52 अलग अलग तरीके से बिना रुके सिद्ध करके दिखाया है.

पटना: बिहार के पटना के आर के श्रीवास्तव का नाम 'वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' लंदन में दर्ज हुआ है. वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स लंदन से सम्मानित होने के बाद आर के श्रीवास्तव ने एक बार फिर ये साबित कर दिया है कि, वो सही मायने में 'मैथेमैटिक्स गुरु' हैं. आर के श्रीवास्तव का नाम 'वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स' द्वारा प्रकाशित किताब में दर्ज किया गया है. किताब में यह जिक्र किया गया है कि आर के श्रीवास्तव ने पाइथागोरस थ्योरम को क्लासरूम प्रोग्राम में 52 अलग अलग तरीके से बिना रुके सिद्ध करके दिखाया है. 

वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन के संरक्षक ब्रिटिश पार्लियामेंट के सांसद वीरेंद्र शर्मा, चेयरमैन दिवाकर शुकुल , प्रेसिडेंट संतोष शुकुला ने आरके श्रीवास्तव को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स सम्मान से सम्मानित होने पर उन्हें बधाई दिया. बिहार के एक छोटे से गांव विक्रमगंज के रहने वाले गरीब असहाय बच्चों को मात्र 8 रुपए महीने में आईआईटी , एनआईटी , बीसीईसीई में सफलता दिलाकर इंजीनियर बनाने वाले युवा शिक्षक आर के श्रीवास्तव को पाइथागोरस थ्योरम को सिद्ध करने के लिए ‘वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्डस लंदन’ में नाम हुआ दर्ज.

 इससे पहले भी नाईट क्लास के लिए आरके श्रीवास्तव का नाम इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स और गोल्डन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में नाम मे दर्ज हो चुका है. 182 क्लास से अधिक बार पूरे रात लगातार 12 घंटे शिक्षा देने के कारण आरके श्रीवास्तव का नाम इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड्स में भी दर्ज हो चुका है. 

आपको बता दें कि इसी वर्ष 15 मई को कॉमेडियन कपिल शर्मा का नाम भी वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स लंदन में दर्ज हुआ. सबसे अधिक देखे जाने वाले स्टैंडअप कॉमेडी शो हेतु कपिल शर्मा को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स लंदन का सर्टिफिकेट प्राप्त हो चुका है. अब बिहार के आरके श्रीवास्तव को उनके शैक्षणिक कार्यशैली हेतु वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स लंदन ने सम्मानित किया.

आर के श्रीवास्तव ने बचपन में है फैसला लिया था कि गांव का कोई बच्चा पैसे के अभाव में पढ़ाई नहीं छोड़ेगा और उसे इंजीनियर बनाने के लिए खुद को समर्पित कर दिया. आज उसी का नतीजा है कि आर के श्रीवास्तव देश ही नहीं दुनिया के कोने-कोने में लोगों के बीच मैथेमैटिक्स गुरु के नाम से जाने जाते हैं.