बिहार: कोरोना संकट के लिए यह पूर्व CM आई आगे, हाथ जोड़कर लोगों से कहा कुछ ऐसा...

वहीं, लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने अपना दूसरा ट्वीट भोजपुरी में किया और लिखा, 'याद रखीं अनुशासन के कमी बहुत घातक होई. रऊवा लोगन के सहयोग अपेक्षित बा. हाथ जोड़ के विनती कर रहल बानि घरे रहीं, बाहर मत निकलीं लोग.' 

बिहार: कोरोना संकट के लिए यह पूर्व CM आई आगे, हाथ जोड़कर लोगों से कहा कुछ ऐसा...
कोरोना संकट के लिए यह पूर्व CM राबड़ी देवी आई आगे, हाथ जोड़कर लोगों से कहा कुछ ऐसा...

पटना: कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण देश में लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बीच, कोरोना वायरस के संदिग्धों और मरीजों के इलाज के लिए विभिन्न क्षेत्रों के दिग्गजों के साथ जनप्रतिनिधि भी मदद का हाथ आगे बढ़ा रहे हैं.

इसी क्रम में बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Rabri Devi) ने भी कोरोना पीड़ितों के लिए मदद का हाथ आगे बढाया है.

राबड़ी देवी ने ट्वीट कल लिखा, 'कोरोना महामारी से लड़ने में पीड़ितों, चिकित्सकों-स्वास्थ्यकर्मियों के बचाव,सुरक्षा एवं जाँच-उपचार हेतू मेडिकल उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने की घोषणा करती हूं. साथ ही मुश्किल समय में सभी से सहयोग की अपील करती हूं.'

वहीं, लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने अपना दूसरा ट्वीट भोजपुरी में किया और लिखा, 'याद रखीं अनुशासन के कमी बहुत घातक होई. रऊवा लोगन के सहयोग अपेक्षित बा. हाथ जोड़ के विनती कर रहल बानि घरे रहीं, बाहर मत निकलीं लोग.'

बता दें कि इससे पहले आरजेडी सुप्रीमों लालू यादव (Lalu Yadav) ने भी ट्वीट कर कहा, 'इस कठिन वक्त में बिहारवासियों के कष्ट में साथ नहीं रहने का कष्ट है. पार्टी के सभी विधायकगण, नेता प्रतिपक्ष, पदाधिकारी पूरी सक्रियता,सकारात्मकता और क्रियाशीलता के साथ हरसंभव राज्य सरकार की मदद कर रहे हैं,'

उन्होंने आगे लिखा, 'पार्टी को 2,50000 लाख रुपए मुख्यमंत्री राहत कोष में अंशदान करने का निर्देश दिया है.' वहीं, इससे पहले तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने भी बिहारवासियों के नाम 'जन प्रार्थना पत्र' लिखा था. साथ ही अपनी एक महीने की सैलरी मुख्यमंत्री राहत कोष में देश का ऐलान किया है.

इधर, आरजेडी विधायक राजेंद्र राम ने अपनी निधि से 15 लाख रुपए दिए हैं. मोतिहारी के हरिसिद्धी से विधायक राजेंद्र राम ने विधानसभा क्षेत्र में कोरोना से बचाव के लिए मास्क और सेनेटाइजर के लिए ये राशि दी है. साथ ही विधायक ने मोतिहारी के डीएम को पत्र लिख अपने वेतन से भी 25 हजार रुपए दिया.