रघुवंश प्रसाद ने नीतीश कुमार से की तीन मांग, 26 जनवरी को वैशाली में झंडा फहराने की मांग की

फेसबुक पर अपने पत्र को पोस्ट कर उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उन 3 मांगों को पूरा करने का आग्रह किया है, जिसे वह पूरा नहीं कर पाए हैं. 

रघुवंश प्रसाद ने नीतीश कुमार से की तीन मांग, 26 जनवरी को वैशाली में झंडा फहराने की मांग की
रघुवंश प्रसाद सिंह ने नीतीश कुमार मनरेगा में संशोधन के लिए पत्र लिखा है. (फाइल फोटो)

पटना: पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद (Raghuvansh Prasad) सिंह ने गुरुवार को आरजेडी से अपना दशकों पुराना नाता तोड़ लिया है. आरजेडी से इस्तीफा देने के बाद रघुवंश प्रसाद सिंह ने नीतीश कुमार मनरेगा में संशोधन के लिए पत्र लिखा है. उन्होंने सरकारी और एससी-एसटी की जमीन में मनरेगा के तहत काम का मुद्दा उठाया है. 

फेसबुक पर अपने पत्र को पोस्ट कर उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उन 3 मांगों को पूरा करने का आग्रह किया है, जिसे वह पूरा नहीं कर पाए हैं. उन्होंने लिखा है कि उन्होंने मनरेगा के तहत सरकारी और एससी-एसटी की जमीन में प्रबंध का विस्तार करते हुए आम किसानों की जमीन को भी काम में जोड़ने का आग्रह किया है. उन्होंने यह कहा है कि अध्यादेश तुरंत लागू कर आने वाले आचार संहिता से बचा जा सकता है.

माननीय मुख्यमंत्री, बिहार माननीय सिचाई मंत्री, बिहार सरकार श्री प्रत्यय अमृत, प्रधान सचिव, बिहार सरकार के नाम पत्र

Posted by Dr. Raghuvansh Prasad Singh on Thursday, September 10, 2020

 
अपनी दूसरी मांग में उन्होंने सीएम से आग्रह किया है कि 15 अगस्त को मुख्यमंत्री पटना में और 26 जनवरी को वैशाली में झंडा फहराए. साथ ही उन्होंने साल 2000 के पहले झारखंड बंटवारे का जिक्र किया है और कहा कि 26 जनवरी को पहले रांची में झंडोतोलन होता था.

 

अपनी तीसरी मांग में उन्होंने भगवान बुद्ध के पवित्र भिक्षापात्र को अफगानिस्तान से  वैशाली लाने की अपील की है. रघुवंश प्रसाद ने इसे लेकर केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री को भी चिट्ठी लिखी है. 

आपको बता दें कि रघुवंश प्रसाद सिंह फिलहाल दिल्ली के एम्स में इलाजरत हैं. कोरोना संक्रमण से ठीक हो जाने के बाद भी उनका स्वास्थ्य पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाया था और उन्हें जल्द रिकवरी के लिए एम्स में भर्ती हैं.