इस्तीफे के बाद बोले रघुवंश- राजनीति का स्तर गिरा, महापुरुषों की जगह 5 लोगों की छप रही फोटो

रघुवंश प्रसाद ने 'संदर्भ' शीर्षक नाम से एक और खत लिखा है जिसमें उन्होंने अपने विचार लिखा है. परोक्ष-अपरोक्ष रूप से उन्होंने आरजेडी पर निशाना साधा है. इस पत्र में उन्होंने मौजूदा राजनीति और आरजेडी पर भी निशाना साधा है. 

इस्तीफे के बाद बोले रघुवंश- राजनीति का स्तर गिरा, महापुरुषों की जगह 5 लोगों की छप रही फोटो
रघुवंश प्रसाद ने 10 सितंबर को आरजेडी से इस्तीफा दे दिया है.

पटना: आरजेडी (RJD) के दिग्गज नेता रह चुके रघुवंश प्रसाद ने 10 सितंबर को पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. उनका दिल्ली एम्स में इलाज चल रहा है. वो अस्पताल से भी राजनीति में एक्टिव हैं. उन्होंने आरजेडी से इस्तीफा देने के बाद नीतीश कुमार को भी एक खत लिखा था जिसमें उन्होंने तीन मांग की थी.

अब रघुवंश प्रसाद ने 'संदर्भ' शीर्षक नाम से एक और खत लिखा है जिसमें उन्होंने अपने विचार लिखा है. परोक्ष-अपरोक्ष रूप से उन्होंने आरजेडी पर निशाना साधा है. इस पत्र में उन्होंने मौजूदा राजनीति और आरजेडी पर भी निशाना साधा है. 

राजनीति में आई गिरावट
उन्होंने पत्र में लिखा है वर्तमान में राजनीति गिरावट आई है जिससे लोकतंत्र पर खतरा है. अब समाजवाद की जगह सामंतवाद, जातिवाद, वंशवाद, परिवारवाद, संप्रदायवाद आ गया. यह सभी उतनी ही बुराईयां हैं जिसके खिलाफ समाजवाद का जन्म हुआ था. 

#संदर्भ।

Posted by Dr. Raghuvansh Prasad Singh on Friday, September 11, 2020

पांच महापुरुषों की जगह पांच लोगों की छप रही फोटो
उन्होंने लिखा है कि पांच महापुरुषों की जगह एक ही परिवार के पांच लोगों की फोटो छप रही है. राजद संगठन को मजबूत करने के उद्देश्य से ही पार्टी में संगठन और संघर्ष को मजबूत करने के लिए लिखा, लेकिन पढ़ने तक का कष्ट नहीं किया गया.

पद से धन कमाना मकसद
अब राजनीति में पद हो जाने से धन कमाना और धन कमाकर ज्यादा लाभ का पद खोजना आम हो गया है. राजनीति की परिभाषा के अनुसार इन सभी बुराइयों से लड़ना है. आज कुछ पार्टियां टिकटों की खरीद बिक्री करने में लगी हुई हैं जो लोकतंत्र के लिए खतरा है. इसके साथ ही कार्यकर्ताओं की हक मारी भी हो रही है.  

लालू ने किया था इस्तीफा नामंजूर
आपको बता दें कि लालू यादव ने रघुवंश प्रसाद का इस्तीफा नामंजूर कर दिया था. लालू यादव ने रघुवंश प्रसाद के इस्तीफे का जवाब देते हुए लिखा, 'आपके द्वारा कथित तौर पर लिखी एक चिट्ठी मीडिया में चलाई जा रही है. मुझे तो विश्वास ही नहीं होता. अभी मेरे, मेरे परिवार और मेरे साथ मिलकर सिंचित राजद परिवार आपको शीघ्र स्वस्थ होकर अपने बीच देखना चाहता है.' पत्र में लालू ने आगे लिखा, 'चार दशकों में हमने हर राजनीतिक, सामाजिक और यहां तक कि पारिवारिक मामलों में मिल-बैठकर ही विचार किया है. आप जल्द स्वस्थ हो जाएं, फिर बैठकर बात करेंगे. आप कहीं नहीं जा रहे हैं. समझ लीजिए.' 

शुक्रवार देर रात से हालत नाजुक
रघुवंश प्रसाद की शुक्रवार देर रात से हालत नाजुक है. उन्हें एम्स में वेंटिलेटर पर रखा गया है. रघुवंश प्रसाद सिंह कोरोना संक्रमण से ठीक हो गए थे लेकिन वो पूरी तरह स्वस्थ्य नहीं हो पाए थे जिसके बाद उन्हें दिल्ली के एम्स में एडमिट कराया गया था.