close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झारखंड : ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित राहुल को नहीं मिल रही सरकारी मदद

गरीबी और लाचारी के कारण राहुल का परिवार समुचित इलाज नहीं करा पा रहा है. 

झारखंड : ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित राहुल को नहीं मिल रही सरकारी मदद
राहुल का परिवार इलाज कराने में असमर्थ हो चुका है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पलामू : ब्रेन ट्यूमर से पीड़ित 12वीं का छात्र राहुल सरकारी सिस्टम की पेचीदगी के कारण जिंदगी और मौत से जूझ रहा है. राहुल के परिवारवालों को कोई सरकारी मदद नहीं मिल रही है, जिससे कि इलाज हो सके. डालटेनगंज शहर के हमीदगंज निवासी प्रदीप जायसवाल का बेटा राहुल 2016 से इस बीमारी से पीड़ित है.

गरीबी और लाचारी के कारण राहुल का परिवार समुचित इलाज नहीं करा पा रहा है. चंद रिश्तेदारों की मदद और घर का जो भी पैसा था सभी राहुल के इलाज में लगा चुका यह परिवार अब थक चुका है.

दरअसल इस परिवार को सरकारी स्वास्थ्य लाभ सिर्फ इसलिए नहीं मिला, क्योंकि स्थानीय प्रमाण पत्र और आय प्रमाण पत्र बनाने में प्रखंड कर्मियों ने गड़बड़ी कर दी. आय प्रमाण पत्र लक्ष्य से ज्यादा बना दिया गया, यही कारण है कि इन्हें अभी तक कोई मदद नहीं मिली है. खुद राहुल की मानें तो वह आगे पढ़ना चाहता है, मगर ब्रेन ट्यूमर के कारण वह पढ़ाई नहीं कर पा रहा है.

नवोदय विद्यालय में पढ़ने वाला छात्र आज लाचार और बेबस नजर आ रहा है. राहुल का कहना है कि उसके पिता गरीब हैं, जिसके कारण उसका इलाज अभी तक नहीं करा पा रहे हैं. राहुल भी सरकार से मदद की गुहार लगा रहा है.

राहुल के पिता प्रदीप जयसवाल इलेक्ट्रॉनिक दुकान में काम करते हैं. मुश्किल से परिवार का गुजारा होता है. ऐसे में इस तरह के असाध्य रोग के लिए यह परिवार अब तक जितना बना सब कुछ किया. फिर भी अभी राहुल का इलाज संपन्न नहीं हो सका है. प्रदीप जायसवाल की मानें तो कई बार ब्लॉक और कचहरी का चक्कर लगाया प्रमाण पत्र लेने के लिए, मगर इनका प्रमाण पत्र बना भी तो उसमें कई त्रूटियां थी. इसके कारण इन्हें पलामू का स्वास्थ्य विभाग कोई मदद नहीं कर पाया.

प्रदीप का कहना है कि दूसरे के साथ ऐसा नहीं होना चाहिए. सरकार ऐसी व्यवस्था बनाए कि पहले ऐसे मरीजों का इलाज हो और बाद में प्रमाण पत्र की मांग.