रामकृपाल यादव का बड़ा आरोप, बोले- भ्रष्ट अधिकारियों के कारण हुआ पटना में जलजमाव

रामकृपाल यादव ने कहा कि जनता के दबाव में हम जनप्रतिनिधि को भी गलत नक्शा पास कराने के लिए पैरवी करनी पड़ी. आगे गलत पैरवी नहीं करूंगा, इसका दावा नहीं कर सकता. 

रामकृपाल यादव का बड़ा आरोप, बोले- भ्रष्ट अधिकारियों के कारण हुआ पटना में जलजमाव
रामकृपाल यादव ने सरकारी अधिकारियों पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार की राजधानी पटना के पाटलिपुत्र लोकसभा सीट से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव (Ram Kripal Yadav) सरकारी सिस्टम में व्याप्त भ्रष्टाचार से परेशान हो गए हैं. उन्होंने एकबार फिर दोहराया कि पटना में भ्रष्टाचार के कारण ही जलजमाव की स्थिति बनी थी. उन्होंने नक्शा पास करने में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया है. सांसद ने कहा कि इसके लिए अधिकरियो ने जमकर हेराफेरी की है.

रामकृपाल यादव ने कहा कि जनता के दबाव में हम जनप्रतिनिधि को भी गलत नक्शा पास कराने के लिए पैरवी करनी पड़ी. आगे गलत पैरवी नहीं करूंगा, इसका दावा नहीं कर सकता. वोटर हमसे नाराज हो जाएंगे. भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए सरकार को कड़ा फैसला लेना. कोई भी पैरवी करे उसकी बातों को नहीं सुना जाए.

पटना के बीजेपी सांसद रामकृपाल यादव ने एकबार फिर जलजमाव को लेकर पूरे सिस्टम पर सवाल खड़ा कर दिया है. उनका दावा है कि सरकारी सिस्टम में भ्रष्टाचार के कारण ही पटना की बुरी स्थिती हुई. बीजेपी सांसद ने तो इस बात को भी खुले तौर पर स्वीकार किया है कि जनता के दबाव में मकानों के नक्शा पास कराने में हम जनप्रतिनिधियों ने भी गलत पैरवी की है. बीजेपी सांसद के बयान ने अपने पीछे कई सवालों को छोड़ दिया है.

पटना जलजमाव का मंजर अभी भी लोगों की जेहन में ताजा है. लोग उसे बुरे ख्वाब की तरह भूलना चाहते हैं, लेकिन किसी न किसी संदर्भ में मामला सामने आ ही जाता है. पटना के पाटलीपुत्र लोकसभा क्षेत्र के सांसद रामकृपाल यादव ने पटना में हुए जलजमाव को लेकर सरकारी सिस्टम का अब तक का सबसे बड़ा हमला किया है.

सांसद ने खुले तौर पर माना है कि सरकारी सिस्टम में भ्रष्टाचार के कारण ही पटना में जलजमाव की स्थिति बनी. बीजेपी सांसद का दावा है कि आम लोगों की क्या बात करें सरकारी संस्थाओं ने भी अतिक्रमण किया. किसी भी विभाग को दूसरे विभाग की परवाह नहीं है. किसी भी काम के लिए एनओसी नहीं लिया जाता.

बीजेपी सांसद ने खुलकर स्वीकार किया है कि पटना शहर का विस्तार बेतरतीब तरीके से हुआ है. हर जगह मनमाने तरीके से मकान बने हैं. जहां नाला नहीं बना है वहां भी मकान बन गये हैं. नक्शा पास करने में सरकारी अधिकारियों ने जमकर गड़बड़ी की है. यहां तक कि हम जैसे जनप्रतिनिधियों को जनता के दबाव में गलत नक्शा पास कराने के लिए भी पैरवी करनी पड़ती है.

जब सांसद से पूछा गया कि पटना का हाल देखने के बाद क्या अगली बार भी गलत पैरवी करेंगे. सवाल के जवाब पर सांसद ने कहा कि इस बात का कोई जनप्रतिनिधि गारंटी दे सकता है क्या. जनता हमारा वोटर है. हम इंकार कैसे कर सकते हैं. रामकृपाल यादव ने समस्या का समाधान भी बताया है. उन्होंने कहा है कि सरकार एक ठोस नीति बनाये कि पैरवी किसी की हो, नहीं सुनी जाएगी. तभी जाकर काम ठीक हो सकेगा.