बाबूलाल मरांडी का हेमंत सरकार पर हमला, कहा-क्यों नहीं मान रहे हैं पत्रकारों को फ्रंट लाइन वारियर्स

झारखंड सरकार ने अभी तक पत्रकारों को फ्रंट लाइन वारियर्स नहीं माना है. ऐसे में अब बाबूलाल मरांडी ने झारखंड सरकार पर हमला बोला है.   

बाबूलाल मरांडी का हेमंत सरकार पर हमला, कहा-क्यों नहीं मान रहे हैं पत्रकारों को फ्रंट लाइन वारियर्स
बाबूलाल मरांडी का हेमंत सरकार पर हमला (फाइल फोटो)

Ranchi: कोरोना की दूसरी लहर की वजह से देश में लगातार मामले सामने आ रहे हैं. ऐसे में देश में कई राज्यों में पत्रकारों को भी फ्रंट लाइन वारियर्स दिया है. लेकिन झारखंड सरकार ने अभी तक पत्रकारों को फ्रंट लाइन वारियर्स नहीं माना है. ऐसे में अब बाबूलाल मरांडी ने झारखंड सरकार पर हमला बोला है. 

 

झारखंड सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने ट्वीट किया कि मध्यप्रदेश,बिहार,ओड़िसा,राजस्थान, तेलंगाना समेत कई राज्यों ने पत्रकारों को फ्रंट लाइन वारियर्स का दर्जा दिया है. देश भर में सबसे ज्यादा 25 पत्रकारों की मौत झारखंड में हुई है. झारखंड सरकार पत्रकारों को फ्रंट लाइन वारियर्स का दर्जा क्यों नहीं दे रही?

ये भी पढ़ें: झारखंड: आज से E-Pass के बिना घर से निकलने पर खैर नहीं! BJP ने सख्ती पर उठाया सवाल

 

उन्होंने आगे ट्वीट किया कि उल्टे सच सामने न आये इसके लिए ई पास जैसे उलझनों में झारखंड के पत्रकारों को उलझा कर परेशान करने का काम हो रहा है. मुख्यमंत्री जी, कहीं आपके मन में यह आशंका तो नहीं कि यहां के पत्रकारों को कोरोना वारियर मानने की आवाज़ सबसे पहले विपक्ष ने उठायी है तो श्रेय मिलने का संकट हो जायेगा?

 

उन्होंने एक और ट्वीट करते हुए लिखा कि अब विलंब मत कीजिये. पत्रकारों को कोरोना वारियर घोषित कर तड़पते-विलखते उनके आश्रितों की सुधि लीजिये.मुख्यमंत्री जी, यक़ीन रखिये. इस पुण्य काम का इकलौता श्रेय आपके नाम लिखकर देने का पहला काम हम करेंगे. दूसरो को भी मना करेंगे कि कोई यह श्रेय लेने की कोशिश न करें.