यारों के यार हैं धोनी! सुरेश रैना के सबसे कठिन समय में कुछ इस तरह से साथ खड़े हुए थे माही

महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) और सुरेश रैना (Suresh Raina) की दोस्ती के किस्से हर क्रिकेट फैन की जुबां पर हैं.

यारों के यार हैं धोनी! सुरेश रैना के सबसे कठिन समय में कुछ इस तरह से साथ खड़े हुए थे माही
रैना के साथ हमेशा रहे हैं धोनी (फाइल फोटो)

Ranchi: महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) और सुरेश रैना (Suresh Raina) की दोस्ती के किस्से हर क्रिकेट फैन की जुबां पर हैं. रैना ने अपनी किताब में कई बार धोनी के साथ बिताए समय के बारें में लिखा है. इस दौरान उन्होंने बताया कि धोनी और वो कैसे इतने अच्छे दोस्त बन गए हैं. हाल में ही रैना ने अपनी एक इंटरव्यू में एक बड़ा खुलसा किया है. इस दौरान उन्होंने बताया है कि वो और धोनी कैसे इतने अच्छे दोस्त बन गए थे. 

धोनी ने कठिन समय में किया था समर्थन 

रैना 2007 के दौरान चोटिल हो गए थे. इस दौरान उन्हें घुटने का ऑपरेशन कराना पड़ा था. इस दौरान धोनी ने रैना की काफी मदद की थी. इस बात का खुलासा करते हुए बताया,'2007 में जब मैं चोटिल हुआ था, तो धोनी ने मेरे से कहा था कि मैं ऑपरेशन के लिए अभी छोटा हूं. मुझे कुछ समय लेना चाहिए. इस दौरान वो टीम का कप्तान नहीं बना था. मै एक साल के लिए क्रिकेट के मैदान से दूर हो गया था. इस दौरान मुझे फिर से क्रिकेट खेलने में डेढ़ साल लग गए थे. इस दौरान वो हर दूसरे दिन मेरे से बात करता था और मेरी चोट को लेकर बात करता था. इस दौरान वो डॉक्टर को लेकर भी बात करता था कि वो इस समय क्या कह रहे हैं और इसका समाधान क्या है. 

एक साथ लिया था संन्यास 

धोनी और रैना की यारी को क्रिकेट का हर फैन जानता है. धोनी ने जैसे ही अपने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया था, इसी के बाद रैना ने भी इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी थी.वहीं, रैना ये भी बोल चुके है कि जिस दिन धोनी आईपीएल से संन्यास लेंगे, वो भी लीग क्रिकेट को अलविदा कह देंगे.

 

'