AJSU ने मनाया 35वां स्थापना दिवस, जनता को गोलबंद करने का लिया संकल्प

ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन यानि AJSU ने मंगलवार को अपना 35वां स्थापना दिवस मनाया. पार्टी ने स्थापना दिवस को संकल्प दिवस के तौर पर मनाया हुआ है. AJSU के संकल्प दिवस कार्यक्रम के दौरान कोरोना से मरने वालों को श्रद्धांजलि दी गई.

AJSU ने मनाया 35वां स्थापना दिवस, जनता को गोलबंद करने का लिया संकल्प
AJSU ने मनाया 35वां स्थापना दिवस (प्रतीकात्मक फोटो)

Ranchi: ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन यानि AJSU ने मंगलवार को अपना 35वां स्थापना दिवस मनाया. पार्टी ने स्थापना दिवस को संकल्प दिवस के तौर पर मनाया हुआ है. AJSU के संकल्प दिवस कार्यक्रम के दौरान कोरोना से मरने वालों को श्रद्धांजलि दी गई. इसके अलावा झारखंड के वीर शहीदों को भी याद किया गया. 

इस मौके पर रक्तदान शिविर और पौधारोपण कार्यक्रम भी आयोजित किया गया. हालांकि इस सब के बीच पार्टी अध्यक्ष सुदेश महतो झारखंड सरकार पर हमला करने कोई भी मौका नहीं गंवाया. उन्होंने शिक्षा, रोजगार और कोविड काल में हुए कामों को लेकर सरकार पर हमला बोला.

AJSU के स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने पार्टी के गठन और उसके विकास को याद किया. इसके अलावा भविष्य की रणनीतियों पर भी बात की. सुदेश महतो ने कहा की पार्टी जल्द संगठन विस्तार के तहत बंगाल और ओड़िशा का रुख करेगी. 

सुदेश महतो ने कहा की बंगाल के कई क्षेत्रों में जनमत तैयार कर उनकी भावना को सम्मान देते हुए बड़े आंदोलन की तैयारी की जाएगी. ओड़िशा में भी पार्टी भविष्य में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करेगी.

इसके अलावा सुदेश महतो ने ये भी बताया की कैसे वो संगठन राज्य सरकार की लचर व्यवस्था के खिलाफ आमजन को गोलबंद करने वाले हैं. सुदेश महतो ने झारखंड सरकार की नीतियों पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कोविड काल का सरकारी आंकड़ा वैध नहीं है, हम अपने स्तर से मरने वालों की सूची तैयार कर रहे हैं. उन्होंने राज्य सरकार से पीड़ित परिवारों को मुआवजा देने की मांग की. 

सुदेश महतो ने वैक्सीनेशन के मोर्चे पर भी राज्य सरकार को घेरा. उन्होंने कहा की वैक्सीन को लेकर सरकार की पहल अच्छी नहीं रही है. वैक्सीन को लेकर राज्य सरकार की अपीलिंग फेल है.

सुदेश महतो ने साथ ही कहा कि राज्य सरकार शिक्षा और रोज़गार के लिए व्यवस्था तैयार कर नहीं पा रही है. लोगों का विश्वास जीतना सरकार की जिम्मेदारी, लेकिन अब तक कोई कार्यक्रम स्पष्ट नहीं है. उन्होंने कहा कि सरकार सब को लेकर चलती है, लेकिन यह सरकार संकोचित सोच के साथ चल रही है. जिसकी वजह से हम पहले ही कल्याणकारी स्टेट का दर्जा हम खो चुके हैं.

झारखंड सरकार को लेकर सुदेश महतो के बयान पर बीजेपी ने भी सहमति जताई है. बीजेपी नेता दिनेशानंद गोस्वामी ने कहा कि पिछले डेढ़ साल से राज्य सरकार की विफलता के खिलाफ बीजेपी आंदोलन करती रही है और आने वाले समय में भी सरकार के खिलाफ आंदोलन करते रहेंगे. उन्होंने कहा कि ये सरकार विकास नहीं कर सकती है और सरकार के पास विकास की इच्छा शक्ति नहीं है.

वहीं, सुदेश महतो के हमले के जवाब में सत्ता पक्ष ने राज्य सरकार की उपलब्धि गिनाई हैं. झारखंड सरकार के मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि हेमंत सरकार ने अपने कार्यकाल में बेहतर काम किया, जिसका परिणाम तीन उपचुनावों में मिली जीत का सर्टिफ़िकेट है. उन्होंने कहा कि सरकार विपक्ष के उचित सलाह का सम्मान करती है, लेकिन राजनीतिक रूप से दिए गए बयानों और आरोप सकारात्मक राजनीतिक का परिचायक नहीं है.

ये भी पढ़ें- झारखंड बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश पर केस दर्ज, कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन का मामला

जेएमएम विधायक सुदिव्य सोनू का कहना है कि झारखंड की जनता ने कोरोना काल में बड़ी गंभीरता से अपने मुख्यमंत्री को फ्रंट लाइन में खड़े रह कर संघर्ष करते देखा है. उन्होंने कहा की राजनीति के इस दौर में विपक्षी दलों को आलोचना के बजाय समालोचना पर ध्यान देना चाहिए.