आपदा को ऐसे अवसर में ना बदलें! झारखंड में खाद्य सामग्री की कीमत में जबरस्त उछाल

Jharkhand Corona News: एक तरफ कोरोना का डर, दूसरी तरफ आम जिंदगी पर ब्रेक लगना और उस पर से झारखंड में लॉकडाउन की अफवाह ने तो जीना ही दुभर कर दिया है.

आपदा को ऐसे अवसर में ना बदलें! झारखंड में खाद्य सामग्री की कीमत में जबरस्त उछाल
झारखंड में खाद्य सामग्री की कीमत में जबरस्त उछाल. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Ranchi: एक तरफ कोरोना लोगों की जान ले रहा है, लोगों के रोजगार छीन रहा है, तो दूसरी ओर ऐसी आपदा को भी मतलबपरस्त अवसर में बदल रहे हैं. अभी तक सिर्फ जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी की खबरें आ रही थीं, लेकिन अब लॉकडाउन की अफवाह के बीच ना सिर्फ खाद्य सामग्री की कालाबाजारी भी शुरू हो गई है, बल्कि उसके दाम में भी बेतहाशा बढोतरी देखी जा रही है.

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर सुनामी बनकर क्या टूटी, लोगों की जिंदगी उजड़ कर रह गई है. एक तरफ कोरोना का डर, दूसरी तरफ आम जिंदगी पर ब्रेक लगना और उस पर से झारखंड में लॉकडाउन की अफवाह ने तो जीना ही दुभर कर दिया है. मतलबपरस्तों की चांदी ही चांदी हो गई है. अफवाह के कारण हफ्ते भर में सभी खाद्य सामग्री की कीमतों में जबरदस्त उछाल आ गया है.

ये भी पढ़ें- झारखंड में कोरोना से 50 और मरीजों की मौत, 3992 नए मामले आए

अचानक बढ़ी महंगाई से लोगों की कमर टूट रही है. हफ्ते भर में ही खाद्य सामान 8 से 10 फीसदी तक महंगे हो गए हैं. हफ्ते भर पहले तक जहां सरसों तेल की कीमत 120-130 रुपये थी,वो अब 165-185 रुपए लीटर हो गया है. जो दाल 70-75 रुपए की बिक रही थी, अब वही 120 से 130 रुपए में खरीदना पड़ रहा है.

ये हाल सिर्फ राजधानी रांची ही नहीं बल्कि पूरे झारखंड में है. सरकार जरुरी दवाओं, ऑक्सीजन की किल्लत से निपटने में जुटी है, लेकिन खाद्य सामग्री की कीमतों में हो रही अंधाधुंध बढ़ोतरी को रोकने को लेकर भी जिम्मेदारी बढ़ती जा रही है.

ये भी पढ़ें- झारखंड में कोरोना का ब्रेक फेल! रोजाना 25 से ज्यादा लोगों की हो रही मौत