झारखंड में ड्राइविंग लाइसेंस बनाना हुआ महंगा, वाहनों के लिए परमिट लेने पर भी देना होगा ज्यादा शुल्क

झारखंड में अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने से लेकर वाहनों के लिए परमिट लेने तक में आम लोगों को पहले से कहीं अधिक राशि खर्च करनी पड़ेगी. 

झारखंड में ड्राइविंग लाइसेंस बनाना हुआ महंगा, वाहनों के लिए परमिट लेने पर भी देना होगा ज्यादा शुल्क
झारखंड में ड्राइविंग लाइसेंस बनाना हुआ महंगा. (प्रतिकात्मक तस्वीर)

Ranchi: झारखंड में ड्राइविंग लाइसेंस बनाना अब महंगा हो गया है. सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस के साथ ही डेढ़ सौ तरह की अन्य फीस भी दुगुनी कर दी है. हेमंत कैबिनेट की बैठक में झारखंड मोटरगाड़ी नियमावली-2021 के तहत पूर्व निर्धारित शुल्क में बढ़ोतरी का फैसला लिया गया है.

झारखंड में अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने से लेकर वाहनों के लिए परमिट लेने तक में आम लोगों को पहले से कहीं अधिक राशि खर्च करनी पड़ेगी. झारखंड मोटरगाड़ी नियमावली-2021 के तहत सरकार ने कई तरह के शुल्क में बढ़ोतरी के फैसले को मंजूरी दे दी है. 

लर्निंग लाइसेंस के लिए वर्तमान जांच शुल्क 100 से बढ़ा कर 200 रुपये कर दिया गया है. जबकि ड्राइविंग लाइसेंस के लिए जांच शुल्क 300 रुपये से बढ़ा कर 500 रुपये किया गया है...लाइसेंस की फोटो बदलने पर 60 की जगह 100 रुपये कर दिया गया है. वहीं परमिट की अनुज्ञा पत्र का शुल्क बढ़ाकर 200 की जगह 400 रुपये किया गया है. जबकि मेडिकल सर्टिफिकेट शुल्क 60 रुपये की जगह 100 रुपये देने होंगे.कंडक्टर लाइसेंस जांच फीस 100 रुपये के बजाय 200 रुपये और कंडक्टर लाइसेंस स्वीकृति फीस 150 की जगह 300 रुपये लगेंगे. वहीं अपील फीस 200 रुपये की जगह 300 रुपये कर दिया गया है.

ये भी पढ़ें: 7th Pay Commission: झारखंड राज्य कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, महंगाई भत्ते में हुई भारी बढ़ोत्तरी

वहीं आम लोगों में शुल्क बढ़ोतरी को लेकर नाराजगी है. शुल्क बढ़ोतरी से सरकार के खजाने में तो अधिक राशि आएगी, लेकिन आम लोगों की जेब जरूर कटेगी. लोगों के मुताबिक लगातार शुल्क बढ़ाए जा रहे हैं, लेकिन सुविधा के नाम पर कुछ नहीं मिलता है. लोगों का कहना है की राजधानी रांची में ड्राइविंग टेस्ट और लर्निंग के लिए एक प्वाइंट मोरहाबादी मैदान में बनाया गया है, जहां किसी तरह की व्यवस्था नहीं है.

वहीं कुछ लोगों के मुताबिक महंगाई बढ़ रही है, पेट्रोल डीजल पहले से महंगे हैं, ऊपर से अब ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना भी महंगा कर सिर्फ बोझ ही बढ़ाया जा रहा है.