जब धोनी ने अपने 'मास्टर स्ट्रोक' से बचाया इस खिलाड़ी का करियर, आज है टीम इंडिया का 'मैच विनर'

रांची के राजकुमार महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने बतौर कप्तान कई खिलाड़ियों के करियर को बचाया है. रोहित शर्मा (Rohit Sharma), विराट कोहली (Virat Kohli) जैसे बड़े नाम इस बात को मानते हैं.

जब धोनी ने अपने 'मास्टर स्ट्रोक' से बचाया इस खिलाड़ी का करियर, आज है टीम इंडिया का 'मैच विनर'
धोनी ने बदला हार्दिक का करियर (फाइल फोटो)

Ranchi: रांची के राजकुमार महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने बतौर कप्तान कई खिलाड़ियों के करियर को बचाया है. रोहित शर्मा (Rohit Sharma), विराट कोहली (Virat Kohli) जैसे बड़े नाम इस बात को मानते हैं. वहीं, इसी कड़ी में एक और नाम है, जिनका करियर भी खुद धोनी ने ही बचाया है. हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) भी मानते है कि उनके इंटरनेशनल करियर को धोनी ने बचाया है. 

हार्दिक के लिए 'देवदूत' बने धोनी 

हार्दिक ने अपना टी20 डेब्यू ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 26 जनवरी, 2016 को एडिलेड में किया था. अपने डेब्यू मैच के पहले ओवर में हार्दिक ने 21 रन लूटा दिए थे. जिसके बाद वो पूरी तरह से टूट गए थे. इसके बाद भी धोनी ने उन्हें आत्मविश्वास दिया और उनसे गेंदबाजी कराई. 

अपने डेब्यू को लेकर बात करते हुए हार्दिक कहते हैं. 'ये मेरे लिए एक बुरा सपने के जैसे था. मैंने डेब्यू मैच के पहले ही ओवर में ही 21 रन दे दिए थे. मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था. इसके बाद भी धोनी ने मुझे दूसरा ओवर डालने को कहा'. 

ये भी पढ़ें: नेहरा ने भी माना धोनी ने बदली इस खिलाड़ी की जिंदगी, अब है टीम का 'मैच विनर'

आगे बोलते हुए हार्दिक ने बताया कहा,'मैं अपने दूसरे ओवर की पहली गेंद पर भी छक्का खा चुका था. जिसके बाद मैंने 1.1 ओवर में ही 28 रन दे दिए थे. लेकिन इसके बाद मैंने अपने दो ओवर में सिर्फ 7-8 रन ही दिए थे और दो विकेट हासिल किये थे. इस दौरान धोनी ने मुझसे कुछ भी नहीं कहा था. लेकिन मैच के खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा था,'मुझे पता था कि वो पहले ओवर के बाद एक बेहतर गेंदबाज़ बनेगा.'

 

'