फतवा और बंदिशों के बावजूद योग छात्रा राफिया नाज़ ने बनाया अपना मुकाम, विदेशों के छात्र भी लेते है टिप्स

International day of yoga 2021: राफिया पर योग करने की वजह से कई फतवे जारी किए गए, कई बार धमकियां दी गई और पत्थरबाजी का भी सामना करना पड़ा. 

फतवा और बंदिशों के बावजूद योग छात्रा राफिया नाज़ ने बनाया अपना मुकाम, विदेशों के छात्र भी लेते है टिप्स
योग छात्रा राफिया नाज़ ने बनाया अपना मुकाम. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Ranchi: रांची की राफिया नाज योग की दुनिया में एक ऐसा उभरता हुआ नाम बन चुकी हैं जिसकी ख्याति अब विदेशों में भी होने लगी है. भारत के अलावा सऊदी अरब और पाकिस्तान के छात्र-छात्राएं भी अब राफिया से योग की टिप्स ले रहे हैं. लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब राफिया के लिए ये सबकुछ करना आसान नहीं था. योग करने के शुरुआती दौर में राफिया मुस्लिम लड़की होने की वजह से मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर थी. 

राफिया पर योग करने की वजह से कई फतवे जारी किए गए, कई बार धमकियां दी गई और पत्थरबाजी का भी सामना करना पड़ा. बावजूद इसके राफिया ना तो कट्टरपंथियों के डर से रुकी और ना ही उसने योग छोड़ा. जिसका नतीजा ये हुआ कि पूरे देश ने इस हिंदुस्तान की बेटी को पलकों पर बिठाया और देखते ही देखते राफिया विदेशों में भी जानी जाने लगी. 

राफिया से सऊदी अरब, पाकिस्तान के छात्र योग की टिप्स लेते हैं तो वहीं, नेपाल में भी राफिया के कई चाहने वाले हैं. दरअसल, राफिया ऑनलाइन भी योग सिखाती हैं. जिसकी वजह से देश विदेश में उनके फॉलोअर्स बढ़ रहे हैं. हर जगह उनके छात्रों की संख्या बढ़ती जा रही है.

(इनपुट- कामरान)