close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना: रावण वध के कार्यक्रम से पहले ही पुतला भरभरा कर गिरा, मचा हड़कंप

जिला प्रशासन और दशहरा कमेटी की लापरवाही एक बार फिर सामने आ गई और प्रशासन की पोल खुल गई.

पटना: रावण वध के कार्यक्रम से पहले ही पुतला भरभरा कर गिरा, मचा हड़कंप
शासन और कमेटी के लोग कुछ भी बताने से पीछे हट रहे हैं.

पटना: पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में 63 वर्षों से पुरानी परंपरा के मुताबिक रावण वध के कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन और दशहरा कमेटी के कार्यकर्ताओं ने पूरी तैयारी कर ली थी. लेकिन 8 अक्टूबर को होने वाले रावण वध के कार्यक्रम से पहले ही रावण का पुतला धराशाई होकर चारों खाने चित हो गया. 

दिन में ही कारीगरों ने रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के पुतला को खड़ा कर दिया था. रावण का पुतला खड़ा होते ही उसी समय झुक गया था. इसी बीच, मजदूरों ने काम करना शुरू ही किया ही था कि शाम के अंधेरे में रावण का पुतला गिरने की खबर आई. पूरे महकमे में हड़कंप मच गया लेकिन अच्छी बात यह रही रावण का पुतला गिरने से काम कर रहे कई मजदूर बाल-बाल बच गए और जान-माल की कोई क्षति नहीं हुई. 

रावण के पुतला गिरने की जानकारी मिलते आनन-फानन जिला प्रशासन और पटना पुलिस की टीम के साथ दशहरा कमेटी के संयोजक कमल नोपानी समेत तमाम कार्यकर्ताओं ने कल होने वाले कार्यक्रम को लेकर फिर से तैयारी शुरू कर दी है. हालांकि इस पर कोई भी प्रशासन और कमेटी के लोग कुछ भी बताने से पीछे हट रहे हैं. लेकिन जिला प्रशासन और दशहरा कमेटी की लापरवाही एक बार फिर सामने आ गई और प्रशासन की पोल खुल गई.

LIVE टीवी:

चूंकि बीते वर्षों पहले इसी पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में रावण वध के कार्यक्रम के समाप्ति के बाद भगदड़ मच गई थी जिसमें प्रशासन की लापरवाही से दर्जनों लोगों की मौत हो गई थी. उसके बाद भी जिला प्रशासन की नींद नहीं खुली हालांकि कल होने वाले रावण बद के कार्यक्रम में किसी प्रकार की कोई खलल नहीं होने जिला प्रशासन पुष्टि कर रही है.