close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पटना के हालातों पर बोले रविशंकर प्रसाद, 'स्वीकार करता हूं कि कुछ कमियां हैं, उन्‍हें ठीक किया जाएगा'

Patna : रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पटना में महामारी न फैले, इसका पूरा प्रयास किया जा रहा है. कई जगहों पर पानी कम हो रहा है. पानी निकालने के लिए कोल इंडिया के पंप लगे हुए हैं. एनटीपीसी के भी पंप आए हैं. इसका फायदा हुआ है. ढाई दिन में 35 सेंटीमीटर बारिश हो गई है, जबकि इतनी बारिश पूरे साल में होती है. 

पटना के हालातों पर बोले रविशंकर प्रसाद, 'स्वीकार करता हूं कि कुछ कमियां हैं, उन्‍हें ठीक किया जाएगा'

नई दिल्‍ली/पटना : भारी बारिश के बाद पटना (Patna) में जलजमाव और बाढ़ के हालातों को लेकर केंद्रीय मंत्री और पटना साहिब से सांसद रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने कहा है कि इसके लिए उत्तरदायित्व फिक्स किया किया जाएगा. जहां कमियां हैं, उसे ठीक किया जाएगा. लोगों की पीड़ा में मैं उनके साथ हूं. मैं खुद राहत कार्यों को मॉनिटर कर रहा हूं. जी न्‍यूज से विशेष बातचीत में उन्‍होंने यह बात कही.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पटना में महामारी न फैले, इसका पूरा प्रयास किया जा रहा है. कई जगहों पर पानी कम हो रहा है. पानी निकालने के लिए कोल इंडिया के पंप लगे हुए हैं. एनटीपीसी के भी पंप आए हैं. इसका फायदा हुआ है. ढाई दिन में 35 सेंटीमीटर बारिश हो गई है, जबकि इतनी बारिश पूरे साल में होती है. 

उन्‍होंने कहा कि मैं खुद लगभग 25-30 पंपिंग स्टेशन पर हालात देखने गया था. मैं उन लोगों के बीच पूरे 4 दिन रहा हूं. कैबिनेट की मीटिंग के लिए आया था. फिर परसों जा रहा हूं. मेरी पूरी कोशिश है कि पानी तो निकले, ब्लीचिंग पाउडर की व्यवस्था हो, महामारी ना हो, यह मेरी कोशिश है.

उन्‍होंने आगे कहा कि लोगों को सवाल पूछने का अधिकार है और हमारा काम है, इसका जवाब देना. स्वयं देखरेख कर रहा हूं. इतनी भारी विभीषिका को देखते हुए कह सकता हूं कि क्षमा करिएगा नगर निगम ही नहीं, विधायक ही नहीं, कई समितियां भी काम करती हैं और एक बार मिल-जुलकर पटना, जो राजधानी भी है बिहार की, उसे ठीक किया जाएगा.

प्रसाद ने कहा कि एक बहुत भारी प्रलयंकारी समस्या हुई. जहां कमियां हैं उसे ठीक करना होगा. आज के दिन में आलोचना नहीं करूंगा, लेकिन इसको ठीक किया जाए, ऐसा संकल्प लिया जाना चाहिए और उसी में लगा हुआ हूं. मेरा काम है जनता को राहत पहुंचाना. यह बारिश कोई पारंपरिक बारिश नहीं है, यह समझना होगा. अगर राजेंद्र नगर में 7 फीट पानी आया, तो यह एक बड़ी बात है. मैं ईमानदारी से स्वीकार करता हूं कि कुछ कमियां हैं, उसे ठीक करने की जरूरत है. मैं स्वयं सारे देखने गया था. जहां कमियां हैं, उसे ठीक किया जाएगा. 

उन्‍होंने कहा कि मैं आगे और मॉनिटर करूंगा. सांसद के रूप में जितना करने की जरूरत है, वह मिल-जुलकर करूंगा. जनता की पीड़ा है और उस पर मरहम लगाने की जरूरत है. उत्तरदायित्व फिक्स करने की बात है, वह जरूर किया जाएगा.