close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बिहार: रेरा का बडा फैसला, बिहार के नामी कंस्ट्रक्शन कंपनी का प्रोजेक्ट किया बैन

फ्लैट धारकों को धोखा देना अब बिल्डरों के लिए आसान नहीं रह गया. बिहार में रियल स्टेट रेगुलरिटी ऑथरिटी ने एक ऐसा ही फैसला देकर फ्लैट धारकों में विश्वास जगाया है. 

 बिहार: रेरा का बडा फैसला, बिहार के नामी कंस्ट्रक्शन कंपनी का प्रोजेक्ट किया बैन
कंपनी के प्लाट्स को बेचकर ग्राहकों को पैसे लौटा दिये जाएंगे.

पटना: घर का सपना दिखाकर लोगों से पैसे उगाही करना बिहार की नामी कंस्ट्रक्शन कंपनी को भारी पर गया है. रेरा ने कंपनी के नये प्रोजेक्ट्स शुरु करने पर पूरी तरह रोक लगा दी है. ये पहला मौका है जब रेरा की फुल बेंच ने ये फैसला दिया है. अग्रनी होम्स प्राईवेट लिमिटेड के नाम से चलनेवाली कंस्ट्रक्शन कंपनी की 150 शिकायतें रेरा के पास आयी थी. जिसके बाद रेरा ने कंपनी के अकाउंट को फ्रीज करते हुए तीन महीने के अंदर ग्राहकों को पैसा लौटाने का निर्देश दिया है. 

फ्लैट धारकों को धोखा देना अब बिल्डरों के लिए आसान नहीं रह गया. बिहार में रियल स्टेट रेगुलरिटी ऑथरिटी ने एक ऐसा ही फैसला देकर फ्लैट धारकों में विश्वास जगाया है. बुद्धवार को बिहार रेरा की फुल बेंच ने पहली बार बडा फैसला दिया. बिहार की जानी मानी बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कंपनी अग्रनी होम्स प्राईवेट लिमिटेड पर शिकंजा कसते हुए कंपनी के नये प्रोजेक्टस पर पूरी तरह रोक लगा दी है.

रेरा ने ये फैसला ग्राहकों की ओर से आयी 150 शिकायतों के बाद सुनाया है. दरअसल रेरा के पास लिखित रुप से 19 शिकायतें आयीं थीं. जिसके बाद बुद्धवार को रेरा ने आवेदनकर्ता और कंस्ट्रक्शन कंपनी के मालिक को अपनी कोर्ट में बुलाया. सुनवाई के बाद रेरा की फुल बेंच ने अंतरिम फैसला दिया. फैसले के अनुसार कंस्ट्रक्शन कंपनी फिलहाल अपना कोई नया प्रोजेक्ट लॉच नहीं करेगी. जबतक पुराने प्रोजेक्ट कंप्लीट नहीं हो जाते या फिर ग्राहकों को पैसे नहीं लौट जाते. 

कंस्ट्रक्शन कंपनी के बैंक खाते फ्रीज कर दिये गये हैं. रेरा उन बैंकों को भी विशेष रुप से निर्देश जारी करेगी जिन बैंकों में कंस्ट्रक्शन कंपनी के खाते हैं.उस अकाउंट से कोई भी पैसा ट्रान्जेक्शन नहीं हो सकेगा.  

कंस्ट्रक्शन कंपनी को दो से तीन महीने के अंदर पैसे फ्लैट धारकों को पैसे लौटाने होंगे. कंपनी के एमडी ने ये भरोसा दिलाया है कि कंपनी के प्लाट्स को बेचकर ग्राहकों को पैसे लौटा दिये जाएंगे.  

रेरा के मेंबर आर बी सिन्हा ने बताया कि अग्रनी ग्रुप ऑफ कंपनीज के अगेंस्ट में 150 से ज्यादा केसेस आए हैं. जिसमें रिफंड की डिमांड की गयी है. चार से 5 सालों में भी फ्लैट बने नहीं हैं या फिर कई जगहों पर काम भी शुरु नहीं हुआ है. ऐसे में रेरा की फुल बेंच ने कंपनी को विशेष दिशानिर्देश दिया है. आर बी सिन्हा ने कहा है कि आनेवाले दो से तीन महीनों में एक दर्जन से ज्यादा कंस्ट्रक्शन कंपनी पर ऐसी ही कार्रवाई की जाएगी. जिसकी प्रक्रिया चल रही है.