close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बक्सर में रिटायर्ड फौजी के बेटे का अपहरण, अपराधियों ने मांगी 30 लाख की फिरौती

बक्सर जिले के डुमरांव थाना क्षेत्र से एक रिटायर्ड फौजी के बेटे का अपहरण का मामला सामने आया है. अपराधियों ने 30 लाख फिरौती की मांग की है.

बक्सर में रिटायर्ड फौजी के बेटे का अपहरण, अपराधियों ने मांगी 30 लाख की फिरौती
बक्सर में रिटायर्ड फौजी के बेटे का अपहरण कर लिया गया है.

रवि मिश्र/बक्सरः बिहार के बक्सर जिले के डुमरांव थाना क्षेत्र से एक रिटायर्ड फौजी के बेटे का अपहरण का मामला सामने आया है. रिटायर्ड फौजी के बेटे के अपहरण की खबर के बाद एक तरफ जहां पुलिस महकमे में खलबली मच गई है तो वहीं दूसरी तरफ आम लोग भी इस खबर से सकते में हैं. अपराधियों ने 30 लाख फिरौती की मांग की है.

जानकारी के मुताबिक डुमरांव थाना क्षेत्र के टैक्सटाइल्स कॉलोनी में रहने वाले रिटायर्ड फौजी गजेंद्र तिवारी के 13 वर्षीय बेटे आशीष कुमार का अपहरण कर लिया गया है. परिजनों के मुताबिक पिछले 7 अगस्त को मनीष डुमरांव में काली पूजा में आयोजित होने वाले मेला देखने गया था. लेकिन वह लौटकर घर नहीं आया. काफी खोजबीन के बाद भी जब परिजनों को उसकी कोई खबर नहीं लगी तो उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस को दी.

परिजनों के द्वारा दिए गए आवेदन के आधार पर डुमरांव पुलिस ने गुमशुदगी का मामला दर्ज कर चुप्पी साध ली. वहीं, 4 दिन पहले उनके बेटे के मोबाइल से ही परिजनों को फोन आया जिसमें अपराधियों ने उनसे कहा कि उनका बेटा उनके कब्जे में है और 30 लाख रुपए फिरौती की मांग की. अपराधियों की डिमांड सुनने के बाद परिजन घबरा गए और आनन-फानन में इस मामले की जानकारी भी पुलिस को दी, लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ कोई सुराग नहीं लग पाया है. अब किसी अनहोनी की आशंका से घबराए परिजन डुमरांव पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठा रहे हैं.

पिछले 11 दिनों से लापता आशीष की कोई खबर नहीं मिलना, इसी अपराधियों का फिरौती का फोन आना और पुलिस की उदासीनता ने परिजनों को सकते में डाल दिया है. हालांकी इस बीच परिजनों ने मामले की गुहार सूबे के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे से भी लगाई है, ताकि मामले में कार्रवाई हो सके और बच्चे को सकुशल बरामद किया जा सके. अपने इकलौते कलेजे के टुकड़े के गायब होने के बाद उसकी मां का रो-रोकर बुरा हाल है और उसके आंखों के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं.

बहरहाल बक्सर जिले के एसपी उपेंद्र नाथ वर्मा से बात की गई तो उन्होंने कार्रवाई का भरोसा दिलाते हुए कहा कि पुलिस पूरे मामले की तफ्तीश कर रही है. जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए बच्चे को सकुशल बरामद किया जाएगा. हालांकि अभी तक नतीजा के नाम पर पुलिस के हाथ बिल्कुल खाली हैं और परिजनों को किसी अनहोनी की आशंका ने परेशान कर रखा है.