बिहार: दूर होगी राजस्व विभाग के ऑफिसर्स की कमी, 150 पदाधिकारियों को सौंपा गया नियुक्ति पत्र

विभाग ने तकरीबन डेढ़ सौ राजस्व पदाधिकारियों को गुरुवार को नियुक्ति पत्र सौंपा है. कुछ दिनों की ट्रेनिंग के बाद इन्हें क्षेत्र में बतौर सीओ यानी अंचलाधिकारी के रुप में पोस्ट कर दिया जाएगा.

बिहार: दूर होगी राजस्व विभाग के ऑफिसर्स की कमी, 150 पदाधिकारियों को सौंपा गया नियुक्ति पत्र
विभाग ने तकरीबन डेढ़ सौ राजस्व पदाधिकारियों को गुरुवार को नियुक्ति पत्र सौंपा है.

पटना: बिहार में ऑफिसर्स की कमी अब दूर होने लगी है. राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के लिए गुरुवार का दिन खास रहा. विभाग ने तकरीबन डेढ़ सौ राजस्व पदाधिकारियों को गुरुवार को नियुक्ति पत्र सौंपा है. कुछ दिनों की ट्रेनिंग के बाद इन्हें क्षेत्र में बतौर सीओ यानी अंचलाधिकारी के रुप में पोस्ट कर दिया जाएगा. ये तमाम अधिकारी बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित है.

राजस्व एवं सुधार विभाग में इन्हें आने के बाद कर्मियों की कमी दूर होगी. 147 राजस्व एवं भूमि सुधार अधिकारी को नियुक्ति पत्र देने विभाग के मंत्री रामनारायण मंडल पहुंचे. राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामनारायण मंडल ने अपनी हाथों से सभी चयनित युवा और युवतियों को नियुक्ति पत्र बांटे. पुराना सचिवालय के अधिवेशन भवन में यह कार्यक्रम आयोजित हुआ.

 

नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम का उद्घाटन दीप प्रज्वलन कर किया गया. कार्यक्रम में विभागीय प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह भी मौजूद रहे. बीपीएससी से चयनित राजस्व पदाधिकारियों के नियुक्ति पत्र देने के साथ-साथ उन्हें नौकरी करने के दौरान क्या करना है और क्या नहीं करने का पाठ भी पढ़ाया गया. अधिवेशन भवन में मंत्र रामनारायण मंडल ने नियुक्ति पत्र देते वक्त सभी पदाधिकारियों से विस्तार से पुछताछ की. 

उनके नाम से लेकर उनका विस्तृत ब्योरे की जानकारी मंत्री रामनारायण मंडल ने ली. उन्होंने सभी पदाधिकारियों से कहा है कि वो सेवा भावना से काम करे. अधिकारी की हनक में जनता के बीच नहीं रहे. सारी हनक घर में रखकर लोगो की सेवा करे. रामनारायण मंडल ने कहा विभाग में इनके योगदान देने के साथ ही अधिकारियों की कमी दूर होगी.

नियुक्ति पत्र वितरण पर विभागीय प्रधान सचिव विवेक कुमार सिंह ने कहा है कि इन्हे सबसे पहले तीन सप्ताह की ट्रेनिंग दी जायेंगी.ट्रेनिंग के बाद ये अफसर क्षेत्र में तैनात होंगे. ट्रेनिंग के दौरान इन्हे काम करने के दौरान क्या करना है और क्या नहीं करना चाहिए का पाठ पढाया जायेगा.विकेक कुमार सिंह ने कहा है कि राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग एक तकनीकि विभाग है.विभाग के फैसले को हर विभाग पर असर पड़ता है.