रांची: तीन साल से बिना लाइसेंस चल रहा रिम्स का ब्लड बैंक, अस्पताल की बड़ी लापरवाही

रांची के रिम्स की बड़ी लापरवाही सामने आई है जो काफी चौंकाने वाली है.27 मार्च 2016 को ब्लड बैंक का लाइसेंस खत्म हो गया था.

रांची: तीन साल से बिना लाइसेंस चल रहा रिम्स का ब्लड बैंक, अस्पताल की बड़ी लापरवाही
27 मार्च 2016 को ब्लड बैंक का लाइसेंस खत्म हो गया था. (फाइल फोटो)

रांची: झारखंड के सबसे बड़े अस्पताल रिम्स की सबसे बड़ी लापरवाही सामने आई है. दरअसल रांची के रिम्स का ब्लड बैंक बिना लाइसेंस के चलता है. बैंक ब्लड के लिए लाइसेंस नहीं लिया गया है. 27 मार्च 2016 को ब्लड बैंक का लाइसेंस खत्म हो गया था.

रिम्स प्रबंधन ने 16 फरवरी 2016 को लाइसेंस रिन्यू के लिए अप्लाई किया था लेकिन जब लाइसेंस रिन्यू नहीं हुआ था तो रिम्स प्रशासन एनओसी लेकर ब्लड बैंक को चलाना शुरू कर दिया. हैरान करने वाली बात ये हैं कि बीते तीन सालों में कई बार ब्लड बैंक का निरीक्षण किया गया, कई कमियां भी उजागर हुई लेकिन लाइसेंस को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया. 

रिम्स के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.विवेक कश्यप ने खुद मीडिया से बातचीत में इस बात को स्वीकार किया. उन्होंने कहा कि लाइसेंस के लिए अप्लाई कर दिया गया है लेकिन ब्लड बैंक फिलहाल इसी स्थिति में चल रहा है.

फिलहाल रिम्स में ब्लड बैंक एनओसी के भरोसे चल रहा है. डॉ विवेक कश्यप ने कहा है कि लाइसेंस नहीं होने से मरीजों को कोई परेशानी नहीं हो रही है. साथ ही रिम्स प्रबंधन ने कहा कि मरीजों पर इससे कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा है. हमारा स्टाफ पूरी तरह से काबिल है. निरीक्षण के दौरान कुछ ना कुछ कमियां निकल जाती है जिसके बाद लाइसेंस नहीं मिल पाता है.