महागठबंधन की बैठक पर आरजेडी-कांग्रेस का बड़ा बयान, नहीं हुए थे मीटिंग में शामिल

वहीं आरजेडी की ओर से बैठक में शामिल न होने के बीच लगाए जा रहे तमाम कयासों पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि सभी अपने तरीके से बैठक कर रहे हैं. सबका मकसद एक है. इसके अलग मायने निकालने की जरूरत नहीं है.

महागठबंधन की बैठक पर आरजेडी-कांग्रेस का बड़ा बयान, नहीं हुए थे मीटिंग में शामिल
महागठबंधन की मीटिंग पर मचा सियासी बवाल, आरजेडी-कांग्रेस के नेता नहीं हुए शामिल. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के सियासी हलकों में हर दिन चुनावी सरगर्मी के बीच चर्चाओं का बाजार गर्म है. इसी बीच शुक्रवार के दिन महागठबंधन के घटक दलों के प्रमुखों ने मुलाकात कर कई अहम मसलों पर बातचीत की, लेकिन यह मुलाकात ही आलोचनाओं के केंद्र में आ गया जब महागठबंधन के दो सबसे बड़े घटक दल आरजेडी और कांग्रेस दोनों ही दलों के नेता तक इस बातचीत में शामिल नहीं हुए.

महागठबंधन की बैठक में शरद यादव, उपेंद्र कुशवाहा, जीतनराम मांझी और मुकेश सहनी तो शामिल हुए लेकिन कांग्रेस की ओर से कोई भी नेता इसका हिस्सा नहीं बना. इसमें बिहार के मुख्यमंत्री पद का चेहरा कौन होगा और आप को महागठबंधन में शामिल किए जाने को लेकर चर्चा हुई.

वहीं आरजेडी की ओर से बैठक में शामिल न होने के बीच लगाए जा रहे तमाम कयासों पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कहा कि सभी अपने तरीके से बैठक कर रहे हैं. सबका मकसद एक है. इसके अलग मायने निकालने की जरूरत नहीं है.

वहीं महागठबधंन की बैठक में कांग्रेस के शामिल नहीं होने के मसले पर पार्टी के प्रवक्ता हरखू झा ने कहा कि कांग्रेस को बैठक के बारे में कोई सूचना नहीं दी गई थी. अध्यक्ष मदन मोहन झा से मेरी बात हुई है. उन्होंने इस बात की पुष्टि की है.

उन्होंने कहा कि महागठबंधन में बड़े-बड़े नेता हैं. मैं उनपर टिप्पणी नही करूंगा. लेकिन उन नेताओं को ये जरूर कहना चाहता हूं कि महागठबंधन में लालू प्रसाद और सोनिया गांधी जो कहेंगे वहीं बात चलेगी. किसी दूसरे नेता के कुछ भी बयान देने से प्रदेश कांग्रेस कमिटी को कुछ लेना-देना नहीं है.