बिहार: 'सियासत के सुपर संडे' से पहले बयानबाजी तेज, आरजेडी-कांग्रेस का BJP-JDU पर हमला

रविवार को जहां केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह वर्चुअल सभा के जरिए बिहार की जनता से जनसंवाद करेंगे. तो वहीं, आरजेडी इसी दिन गरीब अधिकार दिवस मनाने जा रही है.

बिहार: 'सियासत के सुपर संडे' से पहले बयानबाजी तेज, आरजेडी-कांग्रेस का BJP-JDU पर हमला
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Chunav) का औपचारिक बिगूल फूंक जाएगा.

पटना: रविवार को 'सियासत का सुपर संडे' है, क्योंकि इस दिन दो बड़े राजनीतिक दल बीजेपी और आरजडी कोरोना (Corona) काल के बीच, एक राजनीतिक कार्यक्रम करने जा रहे है. इसके साथ ही, बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Vidhansabha Chunav) का औपचारिक बिगूल फूंक जाएगा. इस सुपर संडे में किस राजनीतिक दल का परचम लहरा पाएगा, यह तो वक्त ही बताएगा. लेकिन इससे पहले जुबानी जंग तेज हो गई है.

रविवार को जहां बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) वर्चुअल सभा के जरिए बिहार की जनता से जनसंवाद करेंगे. तो वहीं, आरजेडी इसी दिन 'गरीब अधिकार दिवस' मनाने जा रही है. लेकिन इससे पहले, दोनों दलों ने एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू कर दिया है.

BJP का तेजस्वी यादव पर निशाना
बीजेपी प्रवक्ता अरविंद सिंह ने कहा कि, भाजपा जनता से जनसंवाद करने में लगी है तो वहीं, आरजेडी थाली और छाती पीटने में लगी है. उन्होंने कहा कि, थाली पीटने, छाती पीटने और कटोरी बजाने से जनता को नहीं समझाया जा सकता है. जनता के बीच काम करना पड़ता है. जनता के सुख-दुख में साथ रहना पड़ता है. लेकिन जनता जब दुख में होती है तो, तेजस्वी यादव दिल्ली भाग जाते हैं और जब वोट की जरूरत होती है तो, काम करने वालों को रोकने की कोशिश करते हैं.

RJD का BJP पर पलटवार
वहीं, बीजेपी पर पलटवार करते हुए आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि, सरकार ने गरीब मजदूर को अपराधी बता दिया है. अब तेजस्वी यादव इन मजदूर औऱ गरीब लोगों को उनका हक दिलाएंगे. हमलोग आज मजदूरों के अधिकार के लिए ही अधिकार दिवस मना रहे हैं और बीजेपी की रैली का विरोध कर रहे हैं.

'NDA की अंतर्कलह सामने आ रही'
मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि, वैसे बीजेपी का जवाब तो जेडीयू (JDU) ही दे रही है. बीजेपी के ही कार्यक्रम के विरोध में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) अपना डिजिटल संवाद कर रहे हैं. एनडीए (NDA) में अंतर्कलह सामने आ रहा है.

'लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट'
इधर, कांग्रेस एमएलसी (Congress) प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि, आज बिहार के लाखों लोगों के सामने रोजी-रोटी और बेरोजगारी का संकट है. अमित शाह और नीतीश कुमार उनकी चिंता छोड़ वर्चुअल रैली करने में जुटे हैं. एनडीए नेताओ को ये बताना पड़ेगा कि, आखिर इन मजदूरों को रोजी-रोटी के लिए क्यों बाहर जाना पड़ा. 15 सालों से आपका शासन हैं, बिहार को न तो क्वालिटी एजुकेशन मिली, न उद्योग धंधा लगा, न रोजगार मिला.

'कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब'
प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि, बिहार में लॉ एंड आर्डर की स्थिति खराब, भ्रष्टाचार चरम पर है, समाजिक अशांति है और आप वर्चुअल रैली कर रहे हैं. नीतीश कुमार और अमित शाह को कांग्रेस के सवालों का जवाब देना चाहिए. वहीं, तेजस्वी यादव पर जेडीयू ने भी पलटवार किया है.

'ये कैसा मजाक'
जेडीयू प्रवक्ता प्रवक्ता निखिल मंडल ने कहा कि, नीतीश कुमार काम करते हैं. वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लोगों की समस्या के समाधान में जुटे हैं. वहीं, तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) गरीब दिवस मना रहे हैं. ये कैसे गरीब हैं जो 46 एसी में रहते हैं, मिनरल वाटर से हाथ धोते हैं, चार्टर प्लेन में जन्मदिन मनाते हैं, अरमानी के कपड़े पहनते हैं. ये कैसा मजाक है.

'आप कॉपी कैट बने हुए हैं'
निखिल मंडल ने कहा कि, जब पीएम और सीएम ने थाली बजाकर कोरोना वारियर्स का सम्मान किया था, तो आप मजाक उड़ा रहे थे और आज कॉपी कैट बने हुए हैं. उन्होंने कहा कि, तेजस्वी यादव को जनता पहचानती है.